कोवा मोबाइल ऐप के द्वारा अब सरकारी और निजी अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या का भी पता लग सकेगा-विनी महाजन

50 लाख से ज़्यादा लोगों तक कोवा ऐप की पहुँच, लोगों के लिए वरदान सिद्ध हो रही है

कोविड -19 महामारी के दौरान कोवा मोबाइल ऐप नागरिकों और सरकारी एजेंसियों के लिए मददगार साबित हुई

चंडीगढ़, 12 अगस्त: पंजाबवासी बहुत जल्द कोवा ऐप के द्वारा पूरे राज्य में सरकारी और निजी अस्पतालों में उपलब्ध बैंडों की संख्या का पता लगा सकेंगे। किस अस्पताल में कोरोना के इलाज के लिए कितने बैड हैं, इस संबंधी कोवा ऐप से जानकारी हासिल की जा सकेगी। इसके साथ ही जिन व्यक्तियों ने कोरोना पर जीत हासिल कर ली है, वह दूसरों की मदद करने के मकसद से प्लाज़्मा दान करने के लिए अपनी स्वैच्छा से कोवा ऐप के द्वारा जता सकेंगे।  ज़्यादा जानकारी देते हुए पंजाब की मुख्य सचिव विनी महाजन ने बताया कि कोवा ऐप कोविड-19 के दौरान पंजाबवासियों के लिए बहुत लाभप्रद सिद्ध हुआ है। उन्होंने कहा कि कोवा पर अब तक कुल 50 लाख रजिस्ट्रेशन हुई, जो रोज़ाना बढ़ रही है।

मुख्य सचिव ने कहा कि यह एप्लीकेशन समय के साथ विकसित होती रही है और राज्य में कर्फ़्यू के समय और देश भर में तालाबन्दी के दौरान, प्रशासनिक सुधार विभाग की तकनीकी टीम सख़्त मेहनत करती रही है और उसी समय ज़रूरी विशेषताओं को शामिल करती रही है। पंजाब के सरकारी अस्पतालों में ऑनलाइन ओपीडी के लिए इसको ई-संजीवनी के साथ जोड़ा गया है और अब तक 1300 से अधिक सलाह-मशवरे किये जा चुके हैं। कोवा ऐप में प्रवासी मज़दूरों के लिए खाने, अपने पैतृक राज्य जाने के लिए रजिस्टर करने और रेलगाड़ी की टिकट बुक करवाने के लिए भी विकल्प हैं। नागरिकों के साथ उनके क्षेत्र में किराने / ज़रूरी वस्तुएँ प्रदान करने जैसी सुविधाओं की जानकारी साझा की गई है। वह किराने का सामान ऑनलाइन भी बुक कर सकते हैं। श्रीमती महाजन ने बताया कि कफर््यू के समय के दौरान ऑन लाईन कफर््यू पास जैनरेट करने का विकल्प कोवा ऐप में शामिल किया गया था, जो कि सम्बन्धित नोडल अधिकारियों से आधारित मंज़ूरी थी। इस विकल्प को अब पंजाब राज्य में दाखि़ल होने के लिए स्वै-रजिस्ट्रेशन में तबदील कर दिया गया है, जिससे यात्री के क्वरंटीन प्रोटोकोल की निगरानी की जा सके।

उन्होंने आगे बताया कि नागरिक ऐप का प्रयोग करते हुए अपने नज़दीकी मरीज़ / संदिग्ध मरीज़ / हॉटस्पॉट की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। माननीय मुख्यमंत्री पंजाब के प्रमुख प्रोग्राम मिशन फतेह के लिए 7 लाख रजिस्ट्रेशनें हुई हैं, जिसकी संख्या बढ़ रही है। लोग इस मुहिम की तीन सलाह, भाव सामाजिक दूरी बनाए रखने, बार-बार हाथ धोने और अन्य मास्क पहन कर रखने की सख़्ती से पालना कर रहे हैं। इन निर्देशों की पालना करके पंजाब में कोविड के मामलों की संख्या अन्य राज्यों की अपेक्षा बहुत कम है। श्रीमती महाजन ने आगे कहा कि नागरिक अपने मोबाइल फ़ोन में कोवा ऐप डाउनलोड करके बल्यूटुथ स्विच-ऑन रखें। अगर नागरिक कोविड के किसी भी संदिग्ध व्यक्ति के संपर्क में आता है तो यह ऐप नागरिक को सूचित करेगी। यह सेवा बहुत लाभप्रद साबित हुई है। इसके साथ ही नागरिक ऐप से उनके स्वास्थ्य की स्थिति की जांच कर सकते हैं और ऐप उनको सुझाव देगी कि वह सेहतमंद हैं या उनको कोविड-19 टैस्ट करवाने की ज़रूरत है। यह आपके नज़दीकी कोविड-19 टैस्ट सेंटरों की जानकारी भी देगी।

कोवा प्लेटफार्म को आईसीएमआर प्लेटफॉर्म के साथ जोड़ा गया है, जो कि राज्य में अपना टैस्ट करवाने वाले व्यक्तियों को रोज़ाना के आधार पर टैस्ट रिपोर्ट (नेगेटिव या पॉजि़टिव) भेजने में सहायता करता है। नागरिक इस ऐप का प्रयोग अपने इलाकों में किसी विशाल जलसा, अंतर-राज्यीय यात्री की सूचना देने, सेवा केन्द्रों में जाते समय, और मिशन फतेह मुकाबलो में हिस्सा लेने के लिए कर सकते हैं। नागरिकों को अलग-अलग सेवाओं के अलावा यह प्लेटफॉर्म प्रशासनिक विभागों जैसे स्वास्थ्य, पुलिस, जि़ला प्रशासन और स्टेट कोविड कंट्रोल रूम को फ़ैसला लेने सम्बन्धी रिपोर्टें प्रदान करता है। मरीज़ों के प्रबंधन, क्वारंटीन मैनेजमेंट, स्वास्थ्य सम्बन्धी बुनियादी ढांचे, आने वाले यात्रियों के प्रबंधन, संपर्क ट्रेसिंग / ट्रेकिंग आदि के लिए रियल टाईम डैशबोर्ड उपलब्ध हैं। कोवा प्लेटफॉर्म को आरोग्या सेतु और आई.टी.आई.एच.ए.एस. प्लेटफॉर्म के साथ भी एकजुट किया गया है और प्रशासकीय फ़ैसलों के लिए डेटा साझा किया गया है। यह प्रणाली प्रांतीय पुलिस को पंजाब में आने या पंजाब से जाने वालों के साथ निपटने में मददगार हो रही है।

अब तक 11 लाख से अधिक यात्रियों की रजिस्ट्रेशन हो चुकी है और उन पर ऑनलाइन नजऱ रखी जा रही है।  इस ऐप में एक और ख़ूबी जोड़ी जाएगी, जिससे नागरिकों को पंजाब भर के अलग-अलग सरकारी और प्राईवेट अस्पतालों में कोविड बिस्तरों की उपलब्धता संबंधी पता चलेगा। ठीक हो चुके मरीज़ भी इस ऐप पर प्लाज़्मा दान करने और अन्य लोगों की मदद करने के लिए वॉलंटीयर के तौर पर शामिल होने के लिए आवेदन करने के योग्य होंगे। काबिलेगौर है कि कोविड-19 के मामलों की बढ़ रही संख्या के साथ इन हालातों में अलग-अलग समय पर एकत्रित की गई जानकारी का डिजिटल रूप में प्रबंधन करके एक सार्थक जानकारी प्राप्त करना और इसके अनुसार फ़ैसले लेना महत्वपूर्ण हो जाता है। कोविड-19 की जानकारी के प्रबंधन में पंजाब सरकार अग्रणी रहा है और फरवरी, 2020 में सरकार का आई.टी. सिस्टम तैयार हो गया था।

पंजाब सरकार के समकालीन मुख्य सचिव द्वारा 9 मार्च 2020 को कोवा पंजाब नामी सिटिजन मोबाइल ऐप औपचारिक तौर पर लांच की गई। ऐप का उद्देश्य नागरिकों को अलग-अलग सुरक्षा उपायों, रोकथाम वाले उत्पादों और पंजाब के निर्माताओं की जानकारी, नोडल अधिकारी के संपर्क नंबर समेत कोरोना अस्पतालों संबंधी जानकारी, अकसर पूछे जाने वाले सवाल, चैट -बोट आधारित सेवाओं, स्वास्थ्य स्थिति की जांच और अलग-अलग सरकारी आदेशों संबंधी जानकारी प्रदान करना है। ऐप के डैशबोर्ड पर राज्य में कोविड के मामलों संबंधी प्रामाणिक और रीयल टाईम जानकारी मिलती है। कनैक्ट टू डॉक्टर की विशेषता नागरिक को डॉक्टर के साथ बात करने और प्राथमिक सहायता लेने की सुविधा प्रदान करती है।

Coronavirus Update (Live)

Coronavirus Update

error: Content is protected !!