नया कदम-अब ए-सिम्टोमेटिक पॉजिटिव मरीज को होम आईसोलेशन के लिए फिटनैंस की जांच करवाने नही जाना पडेगा अस्पताल

सैंपलिंग के समय ही होगें होम आईसोलेट संबंधी फिटनैंस टैस्ट , सक्रमण फैलने का खतरा होगा कम  

मनन सैनी
गुरदासपुर, 10 अगस्त  जिला गुरदासपुर में मरीजों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए नया कदम उठाया गया है जिसमें कोरोना वायरस संक्रमित पाए जाने वाले ए-सिम्टोमेटिक मरीजों को होम आईसोलेशन की सुविधा के लिए जांच करवाने के लिए सिवल अस्पतालों में नही जाना पड़ेगा। फिटनैंस संबंधी उनके टैस्ट अस्पताल में सैंपलिंग के समय ही किए जाएगें।  उक्त पुष्टी गुरदासपुर के डिप्टी कमिशनर मोहम्मद इश्फाक की ओर से की गई। 

डीसी इश्फाक ने बताया कि उनके ध्यान में आया था कि लोगो को सैंपलिंग तथा पॉजिटिव पाए जाने के बाद होम आईसोलेशन के लिए जांच करवाने के लिए दो बार अस्पताल जाना पड़ता था। इससे संक्रमण फैलने का खतरा तो रहता ही था वहीं इससे अस्पताल में भीड़ भी रहती थी। 

 परन्तु अब स्वस्थ्य विभाग लोगो के फिटनैंस संबंधी टैस्ट तथा उनका आक्सीजन लेवल की जांच इत्यादि सैंपल लेते वक्त ही ​चैक करेगें।  सैंपल पॉजिटिव निकलने पर अब ए-​सिम्टोमेटिक मरीजों जो होम आईसोलेशन की सुविधा चाहते है को दोबारा अस्पताल में चैंक करवाने नही जाना पड़ेगा। हालाकि सिम्टोमेटिक मरीज जिनका आक्सीजन लेवल कम होगा या कोई गंभीर बिमारियों से ग्रस्त होगें उन्हे अस्पताल में ही डाक्टरों की निगरानी तले रखा जाएगा। 

वहीं गुरदासपुर के सिवस सर्जन किशन चंद ने बताया कि होम आईसोलेट के तहत जरुरतमंद मरीजों को एंटिबायोटिक दवाएं और ऑक्सीजन स्तर मांपने के लिए पल्स आक्सीमीटर की एक किट दी जाती है। जिसमें पल्स ऑक्सीमीटरको  ठीक होने के बाद मरीज की ओर से उसे वापिस किया जाता है ताकि ​वह किसी अन्य के काम आ सके। 

सिवल अस्पताल गुरदासपुर की एसएमओं डॉ चेतना ने बताया कि आरएलटी टीम पॉजिटिव पाए जाने के बाद उक्त संक्रमित मरीज के घर जाएगीं और उनके घर में होम आईसोलेशन संबंधी अलग बाथरुम, कमरा इत्यादि की जांच करने के उपरांत उन्हे घर पर ही आईसोलेट करेगी। ताकि लोगो को किसी भी प्रकार से कोई परेशानी पेश न आए। 

Thepunjabwire
  • 9
  • 27
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    36
    Shares
error: Content is protected !!