ज़रूरतमंदों /गरीबों को राशन देने के लिए शूगरफैड 20 लाख किलो चीनी मुहैया करवाएगा-सुखजिन्दर सिंह रंधावा

अधिकारित परचून विक्रेता को कंट्रोल्ड कीमतों पर चीनी देगा शूगरफैड-अमरीक सिंह आलीवाल
चीनी की सप्लाई के लिए सामाजिक दूरी और साफ़-सफ़ाई के सभी प्रबंधों का ख्याल रखा जाएगा-पुनीत गोयल

चंडीगढ़, 29 मार्च। कोविड -19 के संकट के कारण राज्य भर में लगाए गए कफ्र्यू /लॉकडाउन के चलते गरीबों को राशन देने के लिए शूगरफैड 20 लाख किलो चीनी मुहैया करवाएगा, जिसके अंतर्गत आज 50,000 किलो चीनी भेज दी गई है। यह खुलासा पंजाब के सहकारिता मंत्री स. सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने आज यहाँ जारी प्रैस बयान के द्वारा किया।

स. रंधावा ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते लोगों को एहतियात के तौर पर घरों में रहने के लिए लगाए गए कफ्र्यू के चलते राज्य सरकार द्वारा मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व अधीन गरीबों और ज़रूरतमंदों को राशन मुहैया करवाने के प्रबंध किये गए हैं। उन्होंने कहा कि यह जि़म्मेदारी खाद्य और सिविल सप्लाई विभाग को सौंपी गई है और सहकारी संस्थान शूगरफैड द्वारा यह राशन पहुंचाने के लिए एक-एक किलो के 20 लाख चीनी के पैकेट मुहैया करवाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि आज 50 हज़ार पैकेट भेज दिए गए हैं और बाकी बचती सप्लाई आने वाले दिनों में कर दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इस ज़रूरी खाद्य वस्तुएं की ज़रूरत को पूरा करने और किसी किस्म की कालाबज़ारी को रोकने के लिए चीनी की सप्लाई में कोई कमी नहीं आएगी।

इसी दौरान शूगरफैड के चेयरमैन स. अमरीक सिंह आलीवाल ने बताया कि चीनी की सप्लाई पूरी करने के लिए सभी सहकारी चीनी मिलों को कह दिया गया है और शूगरफैड इस लक्ष्य को पूरा करने में कोई ढील नहीं करेगा। उन्होंने आगे कहा कि इसके अलावा शूगरफैड द्वारा खाद्य एवं सिविल सप्लाई विभाग के अधिकारित परचून विक्रेता को कंट्रोल्ड कीमतों पर चीनी बेची जाएगी। एक समय में एक परचून विक्रेता को एक ट्रक (150 क्विंटल चीनी) से अधिक चीनी न बेची जाए जिससे सब जगह एक जैसी सप्लाई हो सके।

शूगरफैड के एम.डी. श्री पुनीत गोयल ने कहा कि कोविड -19 के चलते स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एडवाइज़री की पालना करते हुए शूगरफैड द्वारा चीनी की सप्लाई में सभी ज़रूरी एहतियात के कदम उठाए जा रहे हैं। जहाँ सामाजिक दूरी का ख्याल रखा जा रहा है वहीं सैनीटाईजऱ, मास्क और दस्तानों का भी प्रयोग किया जा रहा है। उन्होंने आगे बताया कि सभी सहकारी चीनी मिलों पर आम ग्राहकों के लिए चीनी के परचून केंद्र खोले गए हैं और इन केन्द्रों पर सामाजिक दूरी का पूरा ख्याल रखने के लिए भी कहा गया है।

error: Content is protected !!