अंतर जिला घुद्दा गैंग का सरगनाह दो साथियों सहित​ गिरफ्तार, 2 गाड़ियां, तीन पिस्तोल, 27 जिंदा कारतूस, व लूट के पैसे बरामद

पाकिस्तान से हेरोइन तस्करी, बैंक डकैती व इरादा कत्ल के केस में लिप्त था गैंग,वारदात को अंजाम देने के बाद हिमाचल,गुजरात कोलकत्ता  में पीजी व होटल रह कर उड़ाते रहे लूट के पैसें

गुरदासपुर, 26 अक्तूबर (मनन सैनी)। जिला गुरदासपुर की पुलिस ने अंतरजिला घुद्दा गैंग के सरगनाह सुखदीप  सिंह उर्फ घुद्दा तथा उसके दो अन्य साथियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। उक्त गैंग पाकिस्तान से हेरोइन तस्करी करने, कलानौर के गांव रुडियाना में बैंक डकैती व कनक मंडी हरदोछ्न्नी में कत्ल के इरादे से गोली चलाने सहित कई अन्य मामले में लिप्त बताया जा रहा है। गिरफ्तार आरोपियों से दो गाड़ियां, तीन पिस्तोल, 27 जिंदा राऊंद सहित लूट के  40 हजार रुपए बरामद किए गए  हैं।

इस संबंधी जानकारी देते हुए आईजी बार्डर रेंज सुरिंदरपाल सिंह परमार ने बताया कि गुरदासपुर में सीमा से सटे इलाके दोरांगला में 17 जनवरी 2020 को भारत-पाक सीमा पर बीएसएफ की चौंतरा पोस्ट पर पाकिस्तान के तस्कर की ओर से 22 पैकेट हैरोइन तथा हथियार भारत में तस्करी कर भेजे गए थे। जिसे बीएसएफ की ओर से पकड़ लिया गया। जिस संबंधी थाना दोरांगला में केस दर्ज किया गया। पुलिस को जांच के दौरान इस तस्करी में सुखदीप सिंह पुत्र नत्था सिंह निवासी रुडियाना के लिप्त होने संदेह पाया गया। इस उपरांत इस गैंग की ओर से 29 जुलाई 2020 को गांव रुड़ियाना में कोआप्रेटिव बैंक में से पांच लाख पचास हजार की डकैती हुई थी, जिसके पीछे भी घुद्दा गैंग लिप्त पाया गया। इसके इलावा घुद्दा गैंग ने गेंहू मंडी हरदोछन्नी में हरप्रीत सिंह बथवाला को गोली मारी थी। पुलिस इस गैंग के सरगना को पकड़ने हेतू काफी सरगर्म थी। जिसके चलते एसएसपी राजिंदर सिंह सोहल की अध्यक्षता तले टीम का गठन किया गया।  

रविवार को पुलिस को सूचना मिली कि रुडियाना डकैती में इस्तेमाल की गई कार में मुख्य आरोपी सुखदीप सिंह उर्फ घुद्दा और हरविंदर सिंह उर्फ दोधी निवासी मुरादपुर थाना (जिला अमृतसर) गांव दोस्तपुर की ओर से आ रहे हैं।  जिस पर तुरंत कारवाई करते हुए गुरदासपुर पुलिस ने उक्त गाड़ी का पीछा करके उसे कलानौर के पास चारों ओर से घेर लिया।

पुलिस ने उक्त गैंगस्टरों को गिरफ्तार कर गाड़ी की तलाशी की तो उसमें से 40 हजार रुपये, एक 30 बोर की पिस्तौल व 15 जिंदा कारतूस और एक पिस्तोल 32 बोर तथा छह जिंदा रौंद बरामद हुए। आरोपियों ने पूछताछ के दौरान कबूल किया कि 17 जनवरी को चौंतरा पोस्ट से पाकिस्तान के तस्कर के साथ मिल कर 22 पैकेट हैरोइन महंगवाई थी, जिसे  बीएसएफ ने पकड़ लिया था। घुद्दा ने बताया कि हैरोइन मंगवाने में उनके साथ हरजीत सिंह जीता निवासी कलानौर भी था। बैंक में की गई डकैती में उन्होंने पांच लाख 50 हजार रुपये लूटे थे जिसमें से उनके पास  अभी मात्र 40 हजार रुपये ही बचे हैं। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने तीसरे आरोपी हरजीत सिंह को गिरफ्तार कर उससे एक पिस्तोल 32 बोर सहित छह रौंद जिंदा बरामद किये तथा वारदात में इस्तेमाल की गई स्विफ्ट कार भी बरामद की।  अधिकारियों ने बताया कि उक्त आरोपियों पर पहले  भी अमृतसर सहित विभिन्न इलाकों में हथियार तथा चोरी आदि के केस दर्ज थे और कई मामलों में वह लंबे समय से वांछित थे।

वहीं एसएसपी राजिंदर सिंह सोहल ने बताया कि आरोपी वारदात को अंजाम देने के उपरांत बाहरी राज्यों में चले जाते थे। जिसमें वह हिमाचल प्रदेश के मैक्लोडगंज में पीजी तथा होटल में रुका करते थे। इसी तरह उन्होने कबूला कि वह गुजरात तथा कोलकता में भी छिप कर मजे से पैसे उड़ाते थे। एसएसपी सोहल ने बताया कि उक्त लोग ने अभी तक यही कबूला है कि उन्होने पाकिस्तान से खेप मगवाई थी। अभी इनका किसी भी प्रकार के आंतकवादी संगठनों से कोई लिंक सामने नही आया है। पुलिस क ओर से जांच पड़ताल की जा रही है । 

Thepunjabwire
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
error: Content is protected !!