भाजपा पर बरसी मंत्री अरुणा चौधरी-कहा हाथरस की घटना के साथ जोड़ने से पहले अपने अंदर झांके भाजपा , पूछा किस मुंह के साथ भाजपा इस मामले पर कर रही है संकुचित राजनीति

पंजाब सरकार दोषियों को जल्द से जल्द कड़ी सज़ा दिलाने के लिए वचनबद्ध: अरुणा चौधरी

जलालपुर पहुंचकर पीड़ित परिवार के साथ दुख सांझा कर हमदर्दी प्रगटाई

टांडा (होशियारपुर), 25 अक्तूबर:नजदीकी गांव जलालपुर में छह साल की बच्ची के साथ बलात्कार और कत्ल की खतरनाक घटना पर पीड़ित परिवार के साथ दुख सांझा करने और हमदर्दी व्यक्त करने पहुंचे पंजाब की सामाजिक सुरक्षा, महिला और बाल विकास मंत्री अरुणा चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह मामलो में हो रही कार्यवाही की निजी तौर पर निगरानी कर रहे हैं ताकि इस घृणित जुर्म के दोषियों को जल्द से जल्द सख़्त से सख़्त सजा दिलाई जा सके।

मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार और हलका उड़मुड़ से विधायक संगत सिंह गिलजियां और डिप्टी कमिश्नर अपनीत रियात समेत पीड़ित परिवार के साथ हमदर्दी जताते हुए महिला और बाल विकास मंत्री अरुणा चौधरी ने कहा कि पंजाब सरकार इस संकट और दुख की घड़ी में परिवार के कंधे से साथ कंधा मिलाकर खड़ी है और दोषी किसी भी कीमत पर बख्शे नहीं जाएंगे। उन्होंने कहा कि पुलिस की तरफ से मामले में जल्द ही चालान अदालत में पेश किया जा रहा है जिस उपरांत केस की सुनवाई फास्ट ट्रैक तर्ज पर करवाकर दोषियों को मिसाली सजा दिलाई जायेगी।

परिवार की तरफ से मंत्री को बताया गया कि परिवार की एक ही मांग है कि दोषियों को जल्द से जल्द सख़्त सज़ा मिले, जिस पर अरुणा चौधरी ने कहा कि पंजाब सरकार कम से कम समय में दोषियों को सख़्त से सख़्त सजा दिलाने के लिए वचनबद्ध है ताकि भविष्य में ऐसी घिनौनी और समाज को शर्मसार करने वाली घटनाएं रोकी जा सकें।

पत्रकारों की तरफ से इस दौरान पूछे गए सवालों के जवाब में अरुणा चौधरी ने इस संवेदनशील मुद्दे पर संकुचित राजनीति कर रही भारतीय जनता पार्टी को अपने अंदर झांकने के लिए कहा।

भाजपा की तरफ से इस मुद्दे को हाथरस की घटना के साथ जोड़ने को बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए अरुणा चौधरी ने कहा कि दोनों मामलों में सभी तथ्य और सत्य लोगों के सामने है परन्तु फिर भी भाजपा की तरफ से इस संवेदनशील मुद्दे पर राजनीतिक करना ओछी राजनीति के अलावा कुछ भी नहीं। उन्होंने कहा कि सारा मुल्क जानता है कि हाथरस में किस तरह मानवीय अधिकारों का हनन हुआ और पीड़ित परिवार की भावनाओं और रस्मों को दरकिनार करते हुए देर रात बलात्कार की शिकार लड़की का संस्कार मां-बाप की ग़ैर-हाज़िरी में कर दिया गया।

राजनीति से प्रेरित बयानों के लिए भाजपा लीडरशिप को घेरते हुए अरुणा चौधरी ने कहा कि हाथरस की घटना के उल्ट पंजाब में इस शर्मनाक घटना घटने के तुरंत बाद पुलिस ने तत्काल कार्यवाही करते एफआईआर दर्ज करके दोषियों को गिरफ़्तार कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि हाथरस की घटना में जहां भाजपा की सरकार और प्रशासन का सारा ज़ोर घटना पर पर्दा डालने और दोषियों को बचाने में लगा हुआ था, वहीं पंजाब सरकार द्वारा मामले की निष्पक्ष जांच की गई और बनती कार्यवाही को अमल में लाया गया है। उन्होंने कहा कि दोनों घटनाओं के तथ्यों से सारा मुल्क भलीभांति वाकिफ है और फिर भाजपा किस मुंह के साथ इस मुद्दे पर राजनीति कर रही है।

पंजाब सरकार ने औरतों की बेहतरी के लिए उठाए कई अहम कदम
एक और सवाल के जवाब में सामाजिक सुरक्षा मंत्री ने कहा कि सरकार के साथ-साथ आम लोगों को भी औरतों ख़िलाफ़ होने वाले अत्याचारों, शोषण और अन्य घटनाओं के प्रति पूरी तरह जागरूक होकर महिलाओं के अधिकारों की आवाज़ बुलंद करनी चाहिए जिससे समाज में औरतों को उचित मान-सम्मान यकीनी बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार की तरफ से समय-समय पर इस दिशा में उचित कदम उठाए जा रहे हैं जिसके अंतर्गत कामकाज वाली लड़कियों और अन्यों के लिए होस्टलों के निर्माण साथ-साथ सखी -‘वन स्टाप सैंटर ’ स्थापित किये गए हैं जिससे औरतों के ख़िलाफ़ होने वाली घटनाओं की रोकथाम की जा सके। उन्होंने बताया कि अकेले लाकडाऊन दौरान औरतों के साथ घरेलू हिंसा के 706 मामले सामने आए हैं जिन पर पंजाब सरकार की तरफ से उचित कार्यवाही अमल में लाई जा रही है। उन्होंने बताया कि महिला सशक्तिकरण के तहत मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की तरफ से पंचायती राज संस्थाओं में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण के साथ-साथ पंजाब सरकार की तरफ से अब सरकारी नौकरियों की भर्ती में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण का अहम फ़ैसला लिया गया है।

Thepunjabwire
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
error: Content is protected !!