गुरदासपुर में इस साल नही होगी रामलीला एवं नही मनाया जाएगा दशहरा, कोरोना काल के चलते रामलीला क्लबों ने लिया फैसला

गुरदासपुर, 6 सितंबर (मनन सैनी)। कोरोना काल को देखते हुए इस साल शहर में राम लीला एवं दशहरे का आयोजन नही किया जाएगा। हालाकि मंचों पर राम भजन एवं हनुमान चालीसा का पाठ पढ़ा जाएगा। उक्त जानकारी गुरदासपुर राम लीला क्लबों के प्रधान हरदीप सिंह रियाड़ ने दी। रियाड़ ने बताया कि शहर में सात रामलीला मंचों का आयोजन होता है परन्तु कोरोना वायरस के बढ़ रहे प्रकोप के चलते समस्त क्लबों की ओर से संयुक्त रुप से यह फैसला लिया गया है।

इस संबंधी रविवार को गीता भवन मंदिर में एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें सभी ने एकजुट होकर फैसला लिया कि कोरोना वायरस एक ऐसी छूआछूत की बीमारी है जो तेजी से फैल रही है। पिछले तीन महीनों में गुरदासपुर के अंदर करीब 70 लोगों ने कोरोना वायरस की वजह से दम तोड़ दिया है। जो कि बहेद चिंता का विषय है। इन्ही सभी बातों को ध्यान में रखते हुए इस बार रामलीलाओं का मंचन नहीं किया जाएगा।

हरदीप सिंह रियाड़ ने बताया कि अगर वह रामलीलाओं का मंचन करते है तो गली-मोहल्लों से लोग प्रभू श्री राम जी का मंचन देखने के लिए भारी संख्या में एकत्रित होते है। ऐसे में कल्ब के लिए शरीरिक दूरी बना पाना असंभव है। अगर कोविड पाजिटिव मरीज लोगों के बीच बैठता है तो अन्य लोग भी संक्रमित हो सकते है। जिसके चलते संस्था रामलीलाओं का मंचन नहीं करेगी। उन्होने बताया कि मंचों पर केवल हनुमान चालीसा एवं राम भजनों का आयोजन किया जाएगा।

Coronavirus Update (Live)

Coronavirus Update

error: Content is protected !!