साफ छवि धू​मिल करने वालों के साथ कोई समझौता नही, साजिश के तहत लगाए आरोप, करेगें कारवाई- राजिंदर त्रेहन

कैमरे और पंप की खपत की निकाली एंट्री,  रिकार्ड में मिली डलवाए तेल की एंट्री- त्रेहन

चार सालों तक लगातार तीन राज्यों में प्रथम स्थान पर रहा एम एम फ्यूल्ज, गोल्ड़न सर्कल में लाई खुद कंपनी

गुरदासपुर, 28 अगस्त (मनन सैनी)। जेल रोड़ गुरदासपुर पर स्थित पेट्रोल पंप ( एमएम फ्यूल्ज ) के मालिक रजिंदर त्रेहन  उनकी साफ सुथरी छवि को धूमिल करने हेतू बेबुनियाद आरोप लगाने वालों पर कानूनी शिकंजा करने जा रहे है। त्रेहन का कहना है कि षड़यंत्र तथा साजिश के तहत छवि खराब करने वालों के साथ वह कोई समझौता नही करेगे।  गौर रहे कि गत दिनों एक युवक की ओर से उनके पेट्रोल पंप पर पेट्रोल कम डालने संबंधी आरोप लगाए गए थे। जिस पर राजिंदर त्रेहन ने गत दिवस प्रैस कांफ्रेस कर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त दी। 

राजिंदर त्रेहन ने बताया कि वह पिछले 15 सालों से जेल रोड़ पर एमएम फ्यूल्ज पेट्रोल पंप चला रहे है और काम पूरी इमानदारी के साथ कर रहे है। अच्छी सेवाओं के चलते उन्हे इंडियन आयल कंपनी की तरफ से करवाए गए पेट्रोल पंप के सर्वे में बेहतर सेवाएं देने, अच्छा व्यवहार, कंपनी के मापदंडो के अनुसार तेल बेचने, ज्यादा सेल और एक्ट्रा प्रीमियम बेचने के लिए तीन राज्यों (पंजाब, यूटी, हिमाचल) में  लगातार चार बार पहला स्थान प्राप्त हुआ। कंपनी की ओर से ही उन्हे गोल्ड सर्कल में लाया गया। परन्तु पिछले कुछ दिनों से साजिश के चलते उन्हे बदनाम करने की कौशिश की जा रही है। जिसके चलते वह मानसिक तौर पर काफी परेशान है। उनकी अच्छी साफ सुथरी छवि को धूमिल करने की खातिर एक षडयंत्र रच कर उन्हे प्रताडित किया जा रहा है।  

उन्होने बताया कि पिछले दिनों पंकज महाजन नाम का युवक 13 अगस्त को करीब 9.25 मिनट पर करेटा गाड़ी पर सवार होकर उनके पंप पर आए और कर्मचारियों को 900 रुपए का डीजल गाड़ी में डालने के लिए कहा। कर्मचारियों ने मीटर पर जीरों दिखा कर 900 रुपए फीड़ कर तेल डाल दिया। उक्त युवक कुछ देर बाद वहां आया उनसे यह कह कर उलझना शुरु कर दिया कि तेल 500 रुपए का डाला गया है। उक्त ग्राहक की दोबारा पंप पर अफसर की ओर से तसल्ली करवाई गई और जांच परख करवाई गई। परन्तु उक्त ने साजिश के तहत उन्हे बदनाम करने की नीयत से तेल कम डालने संबंधी गंभीर आरोप लगा कर उनकी छवि खराब करने हेतू एक दैनिक पंजाबी अखबार में गलत खबर छपवा दी। हैरत यह रही कि अखबार ने भी ​उनका पक्ष जाने बिना खबर को प्रकाशित कि​या। ऐसे ही आरोप दो दिन बाद ​फिर एक महिला डाक्टर के नाम पर खबर छाप कर लगाए गए। जबकि उक्त महिला को शाम साढ़े सात बजे के बाद कर्फ्यू होने के बाद भी कोरोना वारियर होने के चलते समाज में अच्छे काम करने हेतू  एडजस्ट  कर तेल डाला गया। 

परन्तु उक्त निराधार आरोपों से उनकी छवि को खराब करने की कौशिश की जा रही है और वह काफी परेशान हुए है। त्रेहन ने बताया कि उन पर उक्त व्यक्तियों  की ओर से आरोप लगाए जाने के उपरांत उन्होने कैमरों और पंप की लेनदेन सूची निकाली गई है। जिसमें दिन, समय, पंप का नंबर, पैसों का रिकार्ड तथा निकले तेल की मात्रा संबंधी सब​ रिकार्ड है। उक्त रिकार्ड दिखाते हुए त्रेहन ने कहा कि उनकी ओर से उक्त के पंप पर आने का समय और ​उनकी ओर से डलवाए गए तेल संबंधी पूरी सूची निकालने पर सब कुछ साफ हो गया है। परन्तु उक्त लोग षड़यंत्र के तहत उन्हे बदनाम करने की फिराक में है जिनके खिलाफ वह कारवाई करने जा रहे है। 

error: Content is protected !!