खबर का असर- मकौड़ा पत्तन पर हालात जानने खुद पहुंचे डिप्टी कमिशनर मोहम्मद इश्फाक

गांव निवासियों ने पल्टून पुल समेत अन्य समस्याओं से करवाया डीसी को अवगत,

डीसी इश्फाक ने दिया आश्वासन कहा मुश्किले पहल के आधार पर होंगी हल 
मनन सैनी
गुरदासपुर, 28 अगस्त । पहाड़ी इलाकों में हो रही तेज बारिश के चलते उज्ज दरिया में बढ़ रहे जल स्तर के कारण मकौड़ा पत्तन में रावी दरिया में पानी बढ़ने से पेश आई दिक्कतों संबंधी गुरदासपुर के​ डिप्टी कमिशनर मोहम्मद इश्फाक की ओर से विशेश रुप से खुद मौक पर पहुंच कर जायजा लिया गया। इस मौके पर उन्होने गांव निवासियों से भी बातचीत करते हुए उनकी समस्याओं का पहल के आधार पर हल करने का आश्वासन दिया। गौर रहे कि द पंजाब वायर की ओर से शुक्रवार को  इस इलाके संबंधी खबर को प्रकाशित किया गया था जिसमें रावी दरिया में पानी ज्यादा आने के चलते क​श्ती को बंद कर दिया गया था। जिसे ​डीसी के आगमन से पहले ही पानी कम होने पर दोबारा चला भी दिया गया। 

मकौड़ा पत्तन पर हालात जानने पहुंचे डिप्टी कमिशनर मोहम्मद इश्फाक की ओर से रावी दरिया के नजदीक एवं दरिया के पार गांव के लोगो से बातचीत की। जिसमें अपनी वयथा सुनाते हुए गांव निवासियों ने बताया कि दरिया में भू-क्षरण के कारण दरिया से पार पांच गांव को जाने वाली मुख्य सड़क बह जाने से गांव निवासियों को मुश्किल पेश आ रही है। इसी के साथ गांव निवासियों ने उन्हे पल्टून पुल सहित विभिन्न समस्याओं संबंधी अवगत भी करवाया तथा एक शैड बना कर देने की मांग की।  

जिस पर तुरंत डीसी इश्फाक ने अधिकारियों के साथ वहां मीटिंग कर मौके पर ही गांव निवासियों को बताया कि इरिगेशन विभाग रविवार से सड़क बनाने का काम शुरु कर देगी। जिसके उपरांत मंडी बोर्ड उस पर सड़क का काम शुरु करेगी। वहीं पंचायत सचिवों को भी हिदायत दी गई कि मनरेगा के तहत सड़क या जमीन को भू-क्षरण से बचाने के लिए ठोस प्रबंध किए जाए। उन्होने कहा कि इसी के साथ साथ पल्टून पुल संबंधी पीडब्लयूडी अधिकारियों को कहा गया है जो पुल के लिए शतिरियां आदि का प्रंबंध तैयार कर रखें। वहीं डीसी ने  गांव निवासियों की मांग पर वहां शैड़ बनाकर देने की बात भी कही।  

इसी के साथ साथ रावी दरिया से पार गांव में मनरेगा के तहत चहुमुखी विकास करने की बात करते हुए सरपंचों एवं पंचों को डीसी ने कहा कि वह गांव के अंदर छप्पड़ों का नवीनिरण, पार्क एवं खेल स्टेडियम आदि बनाने का काम करें। डीसी ने बताया कि वह हरेक गांव में मनरेगा के तहत  30 से 40 लाख रुपए खर्च किए जाएगें। पानी की सप्लाई का काम बारिश की वजह से रुका है जो जल्द पूरा कर लिया जाएगा। 

डीसी ने साफ कहा कि जिला प्रशासन की ओर से दरिया के नजदीक और दरिया के पार पड़ते गांव के लोगों की हर मुश्किल पहल के आधार पर हल की जाएगी तथा कोई समस्या पेश नही आने दी जाएगी। उन्होने अधिकारियों को कहा कि बरसाती मौसम चल रहा है इसके लिए लगातार इस क्षेत्र से संबंधित मुश्किलों उनके ध्यान में लाई जाए ताकि समय पर उसका हल किया जा सके। इस मौके पर डिप्टी कमिशनर के साथ एसडीएम रमन कौछड़, तहसीलदार मनजीत सिंह, एक्सीयन जगदीश राज, एक्सीयन अनूप सिंह, एसडीओ नरेश कुमार, गांव तूर के सरपंच गुरनाम सिंह एव भडिआल के पूर्व सरपंच रुप सिंह भी मौजूद थे।  

Thepunjabwire
  • 65
  • 68
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    133
    Shares
error: Content is protected !!