रेत माफिया-राजा के साथ-साथ बादलों का राज भी सीबीआई जांच के घेरे में आए-भगवंत मान

चंडीगढ़, 16 अगस्त । आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद भगवंत मान ने रेत माफिया द्वारा गुंडा टैक्स वसूली के लिए शरेआम लगाऐ जाते नाजायज नाके (बैरियर्ज) के विरुद्ध माननीय पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट की ओर से सीबीआई को प्राथमिक जांच सौंपे जाने का जोरदार स्वागत करते कहा है कि जांच कम से कम साल 2007 से शुरू करके पूरे पंजाब में बेखौफ चलते आ रहे रेत माफिया को जांच के घेरे में लाया जाए। 

पार्टी हैडक्वाटर से जारी बयान में भगवंत मान ने कहा कि माननीय हाईकोर्ट को पानी सिर के ऊपर से निकलने के उपरांत रेत माफिया को कुचलने के लिए सीधा हाथ डालना ही पड़ा है, क्योंकि पिछली बादल सरकार की तरह मौजूदा अमरिन्दर सिंह सरकार ने रेत माफिया समेत सभी माफिया की कमान पूरी तरह अपने हाथ में ली हुई है। यही कारण है कि शाही सरकार गुंडा टैक्स के लिए लगाऐ जा रहे नाजायज नाकों के बारे में अदालतों से भी लिखित रूप में झूठ बोलती रही है, परंतु जिला कानूनी सर्विस अथॉरिटी रोपड़ के सैक्ट्री की तरफ से रेत बजरी और गुंडा टैक्स के लिए लगते नाकों की फोटोएं और वीडिओज़ के द्वारा दी रिपोर्ट ने न सिर्फ अमरिन्दर सिंह सरकार के झूठ की पोल खोली है, बल्कि आम आदमी पार्टी (आप) की ओर से शुरू से ही रेत माफिया के बारे में बादलों और राजा के सीधे संरक्षण को लेकर लगाए जाते दोषों पर पक्की मोहर लगा दी गई है। 

भगवंत मान ने मांग की है कि रेत माफिया के विरुद्ध जांच समयबद्ध हो और जांच पिछली अकाली-भाजपा सरकार से लेकर अब तक पूरी बारीकी और विस्तार के साथ करवाई जाए और साथ ही सीबीआई की जांच माननीय अदालत इस की खुद निगरानी करे। उन्होंने मांग की है कि इस जांच में सभी अकाली-भाजपा और कांग्रेसी विधायकों, मंत्रियों, पूर्व मंत्रियों के साथ-साथ माफिया प्रभावित सभी जिलों के जिम्मेदार अफसरों को भी जांच के घेरे में लाया जाए। 

Thepunjabwire
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
error: Content is protected !!