पंजाब सरकार ने सूचीबद्ध अस्पतालों /क्लीनिकोंं और लैबोरेटरियों द्वारा भेजे कोविड -19 के नमूनों की मुफ़्त टेस्टिंग करवाने का लिया फ़ैसला- बलबीर सिंह सिद्धू

इस सुविधा का लाभ ले रहे प्राईवेट अस्पताल और क्लीनिक मरीज़ों से 1000 रुपए से अधिक चार्ज नहीं करेंंगे

चंडीगढ़, 4 जून: महामारी के फैलाव को रोकने के लिए कोविड -19 के मरीज़ों का समय पर पता लगाने के लिए लोगों की बड़े स्तर पर स्क्रीनिंग किये जाने को ध्यान में रखते हुये कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार ने सूचीबद्ध अस्पतालों /क्लीनिकों और लैबोरेटरियों के द्वारा भेजे कोविड -19 के नमूनों की मुफ़्त आर.टी. -पी.सी.आर. टेस्टिंग करवाने का फ़ैसला लिया है। यह जानकारी स्वास्थ्य मंत्री स. बलबीर सिंह सिद्धू ने एक प्रैस बयान में दी।

मंत्री ने कहा कि सिवल सर्जनों को उन निजी अस्पतालों / क्लीनिकों और लैबों को सूचीबद्ध करने के लिए हिदायतें जारी की गई हैं जो नमूनों की मुफ़्त टेस्टिंग सुविधा देने के लिए स्वै-इच्छा से सूचीबद्ध होने के लिए तैयार हैं। उन्होंने बताया कि यह लाजि़मी किया गया है कि प्राईवेट अस्पताल / क्लीनिकों और लैबोरेटरियों के पास कोविड -19 के शक्की मरीज़ों के लिए अलग जगह होनी चाहिए जहाँ नमूना लिए जाएंगे और नमूना लेने वाले व्यक्ति की तरफ से पूरे निजी सुरक्षा उपकरण पहने होने को यकीनी बनाया जायेगा। प्राईवेट अस्पताल ज़रुरी लोजिस्टिकस का प्रबंध करेगा और नमूने एकत्रित करेगा, उनको पैक करेगा और प्रोटोकोल के अनुसार नजदीकी सरकारी स्वास्थ्य संस्था को भेजेगा। वह आरटी -पीसीआर एप में आईसीएमआर प्रोटोकोल के अनुसार विवरणों को भरना यकीनी बनाते हैं।

उन्होंने आगे बताया कि इसलिए यूजर नियम और पासवर्ड सम्बन्धी सिवल सर्जनों के द्वारा कुलैकशन सैंटरों के लिए निजी अस्पतालों / क्लीनिकों को मुहैया करवाए जाएंगे। प्राईवेट अस्पताल / क्लीनिक सैंपल समेत सैंपल आई.डी. के साथ आरटी -पीसीआर एप के द्वारा तैयार लाईन सूची भेजेंगे। प्राईवेट अस्पतालों / क्लीनिकों के द्वारा भेजे गए नमूनों की सरकारी लैबोरेटरियों में मुफ़्त जांच की जाऐगी।

स. सिद्धू ने बताया कि इस सुविधा का लाभ ले रहेे प्राईवेट अस्पताल और क्लीनिक नमूने एकत्रित करने के लिए मरीज़ों से 1000 रुपए से अधिक नहीं चार्ज करेंगे। उन्होंने कहा कि प्राईवेट अस्पताल / क्लीनिक आई.सी.एम.आर. के मापदण्डों के अनुसार मरीज़ों का चयन करेंगे जिसके अंतर्गत लक्षण पाये जाने वाले अंतरराष्टीय या घरेलू यात्री, लैब द्वारा पुष्ट किये गए कोविड -19 मरीज़ के संपर्क, कंटेनमैंट ज़ोनों / हॉटसपॉट से आने वाले व्यक्ति जिनमें लक्षण पाये गए हैं, कोविड -19 मरीज़ के उच्च जोखिम वाले संपर्क जिनमें लक्षण नहीं पाये गए, लक्षण न पाये जाने वाले /लक्षण पाये जाने वाले फ्रंट लाईन पर काम कर रहे कर्मचारी और लक्षण पाये जाने वाले प्रवासी व्यक्ति या वापिस लौटने वाले व्यक्ति। कुलैकशन सैंटरों के तौर पर सूचीबद्ध सभी प्राईवेट अस्पताल / क्लीनिकों और लैबोरेटरियों को आई.सी.एम.आर. प्रोटोकोल के अनुसार आर.टी. -पी.सी.आर टेस्टिंग लैब के साथ जोड़ जायेगा।

Thepunjabwire
  • 17
  • 51
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    68
    Shares
error: Content is protected !!