सुखजिन्दर सिंह रंधावा द्वारा सहकारी सोसायटियों का स्तर ऊंचा उठाने और दशा सुधारने के लिए दिशा निर्देश जारी

सहकारिता मंत्री ने जमीनी हकीकत जानने के लिए विधायकों और अधिकारियों के साथ की मीटिंग

सोसायटियों के लिए आवश्यकता अनुसार स्टाफ की भर्ती के अधिकार ज्वाइंट रजिस्ट्रार्ज को सौंपे

चंडीगढ़, 4 जून:सहकारिता मंत्री स. सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने राज्य की सहकारी सोसायटियों के ढांचे को मजबूत करने और इनकी खामियों को दूर करने के लिए आज कुछ विधायकों और विभाग के सीनियर अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय मीटिंग की। मीटिंग के दौरान जमीनी हकीकत जानने के बाद स. रंधावा ने इन सोसायटियों का स्तर ऊंचा उठाने और दशा सुधारने के लिए दिशा निर्देश जारी किये।

यहाँ मार्कफैड के मुख्यालय में हुई मीटिंग में स. रंधावा ने कहा कि जहाँ भी सोसायटियों को जरुरी स्टाफ की जरूरत है, उसकी कमी को पूरा करने के लिए भर्ती के अधिकार ज्वाइंट रजिस्ट्रार्ज को दिए जाएँ। उन्होंने सोसायटियों के काम का मुल्यांकन करते हुए घाटे में चल रही सोसायटियों को मुनाफ़े में लाने के लिए कारगर व्यापक नीति बनाने के लिए भी कहा। उन्होंने सोसायटियों के कामकाज में सुधार और पारदर्शिता लाने के लिए भी सुझाव माँगे।

स. रंधावा ने कहा कि सहकारिता विभाग किसानी की रीढ़ की हड्डी है। किसानी को लाभप्रद बनाने के लिए मजबूत सहकारी लहर की जरूरत है। उन्होंने कहा कि विभाग की प्राथमिकता सहकारी सोसायटियों को मजबूत करना है। उन्होंने कहा कि वह खुद निरंतर सोसायटियों के कामकाज की समीक्षा किया करेंगे।

मीटिंग में विधायक स. दर्शन सिंह बराड़, स. कुशलदीप सिंह किक्की ढिल्लों, अमरिन्दर सिंह राजा वडि़ंग, स. परमिन्दर सिंह पिंकी, स. कुलबीर सिंह जीरा, स. प्रीतम सिंह कोटभाई, स. सुरजीत सिंह धीमान, श्री नत्थू राम, स. दविन्दर सिंह घुबाया, स. बरिन्दरमीत सिंह पाहड़ा, सहकारी सभाओं के रजिस्ट्रार श्री विकास गर्ग, पंजाब राज्य सहकारी बैंक और मार्कफैड के एम.डी. श्री वरुण रूजम, मिल्कफैड के एम.डी. श्री कमलदीप सिंह संघा सहित और भी उच्च अधिकारी उपस्थित थे।

error: Content is protected !!