संशोधित डिसचार्ज नीति के अनुसार आज 952 व्यक्ति डिसचार्ज हुए- बलबीर सिंह सिद्धू


राज्य के 4 जिलों में 6 कंटेनमैंट ज़ोन
टैस्टिंग सामथ्र्य बढ़ा कर 1654 प्रति मिलियन किया जो राष्ट्रीय औसत की अपेक्षा ज़्यादा

चंडीगढ़, 16 मई:राज्य सरकार की तरफ से 1257 व्यक्तियों को स्वास्थ्य घोषित किया गया है जिनमें से 952 व्यक्तियों को आज डिसचार्ज किया गया जोकि एक अच्छी ख़बर है क्योंकि नांदेड़ साहिब से आए ज़्यादातर श्रद्धालुओं को आइसोलेशन केन्द्रों में से छुट्टी मिल गई है।  

इस संबंधी जानकारी देते हुये स्वास्थ्य मंत्री स. बलबीर सिंह सिद्धू ने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली राज्य सरकार कोविड -19 के संकट से पैदा हुई किसी भी चुनौती से निपटने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि राज्य में कोविड -19 के 1946 मामलों की पुष्टि हुई है जबकि अब तक 50,613 व्यक्तियों की जांच की गई है, जिनमें से 46,028 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

बलबीर सिंह सिद्धू ने बताया कि चार जिले ऐसे हैं जिनमें छह कंटेनटमैंट जोन हैं जहाँ कोविड -19 के 15 से अधिक मामले सामने आए हैं और यह जिले एस.ए.एस.नगर, जालंधर (2), पटियाला (2) और पठानकोट हैं।  

स्वास्थ्य विभाग की प्राप्ति पर ज़ोर देते हुये उन्होंने कहा कि राज्य की इलाज दर लगभग 64 प्रतिशत है और आज की तारीख़ में सिफऱ् 657 एक्टिव केस ही मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि सैंपलों की पॉजि़टीविटी 4 प्रतिशत है जबकि मौत दर 1.6 प्रतिशत दर्ज की गई है जो कि राष्ट्रीय औसत से कम है।

स. बलबीर सिंह सिद्धू ने आगे कहा कि सरकार राज्य में कोरोना वायरस महामारी से लडऩे के लिए पूरी तरह तैयार है और हर एक शक्की व्यक्ति का पता लगाने और उसकी जांच करने के लिए मुस्तैदी से यत्न किये जा रहे हैं जिससे लोगों में कोरोना वायरस के फैलने को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कोविड -19 मरीज़ों को मानक इलाज सेवाएं प्रदान करने के लिए वचनबद्ध है और इस मंतव्य के लिए सरकारी स्वास्थ्य सहूलतों में तकरीबन 5000 आइसोलेशन बैडों की व्यवस्था की गई है। सभी गंभीर कोविड मरीज़ सरकारी मैडीकल कॉलेजों और दो निजी मैडीकल कॉलेजों में जाएंगे। उन्होंने यह भी कहा कि टेस्टिंग 1654 प्रति मिलियन हो गई है और 1500 से 1800 टैस्ट प्रति दिन किये जा रहे हैं जो कि राष्ट्रीय औसत से ऊपर है।

उन्होंने भरोसा दिया कि यहाँ पीपीइ किटों, एन 95 मास्क और ट्रिपल लेयर मास्क की उचित सप्लाई है जो सभी जि़लोंं और सरकारी मैडीकल कॉलेजों को दी जा रही है।

Print Friendly, PDF & Email
Thepunjabwire
  •  
  • 68
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    68
    Shares
error: Content is protected !!