मनप्रीत सिंह बादल ने दो दिनों में वायदा पुरा किया; सिविल अस्पताल में 50 पी.पी.ई. किटें मुहैया करवाईं

3 दिन में मिलेंगी 200 और पी.पी.ई. किटें – वित्त मंत्री

चंडीगढ़/बठिंडा, 8 अप्रैल: पंजाब के वित्त मंत्री स. मनप्रीत सिंह बादल ने सोमवार को यहाँ मैडीकल अमले को एक सप्ताह के भीतर पी.पी.ई. किटें मुहैया करवाने का किया वायदा केवल 48 घंटों में ही पुरा कर दिया। आज इंडियन मैडीकल एसोसिएशन और खालसा ऐड की मदद से 50 पी.पी.ई. किटें सिविल अस्पताल, बठिंडा को उपलब्ध करवाई गई हैं जबकि सिविल अस्पताल में 200 और किटों की आपूर्ति अगले तीन दिनों में कर दी जाएगी।

इस मौके पर स. बादल ने बताया कि इस समय सरकार की प्राथमिकता हमारे डॉक्टरी अमले की सुरक्षा है और कोरोना के खि़लाफ़ अग्रणी कतार में लड़ रहे इन योद्धाओं को सुरक्षा सामान की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने बताया कि सिविल अस्पताल में पहले भी ज़रूरत के अनुसार 200 से ज़्यादा पी.पी.ई. किटों का स्टॉक मौजूद था, परन्तु डॉक्टरी अमले की माँग के अनुसार और किटें मुहैया करवाई गई हैं। उन्होंंने यह किटें मुहैया करवाने के लिए इंडियन मैडीकल एसोसिएशन का विशेष तौर पर धन्यवाद किया। वित्त मंत्री ने कहा कि अब राशन, दूध, फल-सब्जियां, दवाएँ आदि की आपूर्ति सही तरीके से चल रही है।

उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा स्थिति पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह स्वयं राहत कार्यों की निगरानी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से मुकम्मल तैयारी है कि इस बीमारी को इसी पड़ाव पर रोक लिया जाए। इंडियन मैडीकल एसोसिएशन के पंजाब प्रधान डॉ. नवजोत सिंह दहिया ने कहा कि आई.एम.ए. सरकार के साथ हर प्रकार का सहयोग कर रही है। उन्होंने बताया कि आज भेंट की गई किटें देने में खालसा एड संस्था ने सहयोग दिया है। उन्होंने कहा कि आई.एम.ए. हर प्रकार से इस बीमारी के मुकाबले में स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर काम कर रही है।

बॉक्स: गेहूँ की खरीद के लिए सभी प्रबंध मुकम्मल- वित्त मंत्री पत्रकारों द्वारा पूछे जाने पर वित्त मंत्री स. मनप्रीत सिंह बादल ने कहा कि किसानों के गेहूँ का एक-एक दाना खरीदा जाएगा। उन्होंने कहा कि किसानों से गेहूँ की खरीद के लिए नया ढांचा तैयार किया गया है और किसानों को गेहूँ बेचने में कोई दिक्कत नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्धी मंडी बोर्ड और सरकारी खरीद एजेंसियों को सभी ज़रुरी इंतज़ाम करने की हिदायतें की जा चुकी हैं।

error: Content is protected !!