कोरोनावायरस विरोधी मुहिम में विजीलैंस ब्यूरो देगी जि़ला प्रशासन को पूरी मदद

विजीलैंस रखेगी ज़रूरी चीजों का भंडारण करने वालों और मुनाफ़ाखोरी करने वालों पर कड़ी नजऱ

चंडीगढ़, 24 मार्च कोविड-19 (कोरोनावायरस) की महामारी आज विश्वव्यापी चिंता और सार्वजनिक स्वास्थ्य संकट के तौर पर सामने आई है। मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व अधीन पंजाब सरकार इस ख़तरनाक वायरस को फैलने से रोकने के लिए कफ्र्यू लगाने समेत सभी ज़रूरी कदम उठा रही है जिसकी सबके द्वारा प्रशंसा की जा रही है।

मुख्य डायरैक्टर, विजीलैंस ब्यूरो बी.के. उप्पल ने मौजूदा स्थिति के मद्देनजऱ इस तथ्य को समझते हुए कि जि़ला प्रशासन एवं सेवाएं और स्रोत मुहैया करवाने के लिए भारी दबाव है, ब्यूरो के सभी अधिकारियों को जि़ला प्रशासन और जि़ला पुलिस के साथ तालमेल रखने और हर तरह के सहयोग और सहायता की पेशकश देने का निर्देश दिया है।

इस सम्बन्धी विजीलैंस ब्यूरो के एक प्रवक्ता ने बताया कि ब्यूरो के चीफ़ डायरैक्टर के दिशा-निर्देशों पर अमल करते हुए विजीलैंस ब्यूरो के एसएसपीज़ ने पहले ही सम्बन्धित डिप्टी कमिश्नरों और जि़ला पुलिस प्रमुखों को अर्ध सरकारी पत्र भेज दिए हैं और उनको अपनी तरफ से हर संभव सहायता और सहयोग देने की पेशकश की है।

उन्होंने बताया कि इसके अलावा बी.के. उप्पल ने अपने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वह ज़रूरी चीजों को भंडारण करने वालों या मुनाफ़ाखोरी करने वालों पर कड़ी नजऱ रखें और कोरोनावायरस की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा किये जा रहे यत्नों को लागू करने में जान-बूझकर अनियमितताएं करने वालों पर भी नजऱ रखें। जि़क्रयोग्य है कि विजीलैंस ब्यूरो के अधिकारी पहले ही अपना एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का फ़ैसला कर चुके हैं।

error: Content is protected !!