पंजाब केे गौरवमयी ऐतिहासिक विरासत को प्रफुल्लित करने हेतु महान शख्सियतों की प्रतिमाएं स्थापित करने की मंजूरी

चंडीगढ़, 5 मार्च:देश और राज्य की गौरवमयी ऐतिहासिक विरासत को प्रफुल्लित करने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने भगवान परशु राम जी और महाराजा अग्रसेन जी के अलावा महान सिख जनरल बाबा बन्दा सिंह बहादुर, प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी बाबा सोहन सिंह भकना और बाबा महाराज सिंह के साथ-साथ भारतीय संविधान के निर्माता डॉ. बी.आर. अंबेडकर की प्रतिमाएं लगाने की मंज़ूरी दे दी है।

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि यह विलक्षण प्रयास नौजवानों को अपने महान पुरखों के गौरवमयी इतिहास के साथ जोडऩे में सहायक होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह कदम आदरणीय संतों, महान योद्धाओं, प्रसिद्ध स्वतंत्रता संग्रामियों के अलावा प्रसिद्ध शख़्िसयतों के प्रति उनकी सरकार के सत्कार को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि इन प्रतिष्ठित प्रतीकों से नौजवानों में भारत और पंजाब के समृद्ध धार्मिक विरासत के साथ-साथ ऐतिहासिक और सांस्कृतिक विरासत संबंधी जागरूकता पैदा करने में सहायता करेंगे।

आज यहाँ राज्य स्तरीय संचालन समिति की मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री ने लुधियाना में विष्णु जी के छठे अवतार भगवान परशु राम जी की काँस्य प्रतिमा और बठिंडा में अग्रोहा के महान भारतीय राजा महाराजा अग्रसेन जी की प्रतिमा स्थापित करने को मंजूरी दे दी है। इसी तरह महान सिख जनरल बाबा बन्दा सिंह बहादुर की प्रतिमा फतेहगढ़ साहिब जि़ले में सरहिन्द में स्थापित की जायेगी।मुख्यमंत्री ने सांस्कृतिक मामलों के प्रमुख सचिव हुस्न लाल द्वारा पंजाब तकनीकी यूनिवर्सिटी द्वारा फगवाड़ा /जालंधर में और इसके आस-पास संविधान के निर्माता और प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ डॉ. बी.आर. अंबेडकर की प्रतिमा स्थापित करने के लिए रखे प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी।

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी बाबा सोहन सिंह भकना की 150वीं जयंती के अवसर पर उनकी याद में अमृतसर जि़ले में प्रतिमा स्थापित करने सम्बन्धी संचालन समिति के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है।मुख्यमंत्री ने बाबा महाराज सिंह की प्रतिमा लुधियाना जि़ले में स्थित उनके पैतृक गाँव उच्ची रब्बों में स्थापित करने को भी मंजूरी दे दी है। हालाँकि, उन्होंने सांस्कृतिक मामलों बारे विभाग को प्रसिद्ध इतिहासकारों, विद्वानों और शोधकर्ताओं के साथ परामर्श के द्वारा ऐतिहासिक दृष्टिकोण से और ज्यादा जानकारी प्राप्त करने के लिए भी कहा।

‘विक्टोरिया क्रॉस’ प्राप्त सारागढ़ी युद्ध के नायक सिपाही ईशर सिंह के बेमिसाल योगदान को देखते हुए मुख्यमंत्री ने संचालन समिति को इस महान सिख सिपाही के प्रति विनम्र श्रद्धाँजलि के तौर पर लुधियाना में उनकी प्रतिमा स्थापित करने के लिए भी कहा।मीटिंग में दूसरों के अलावा स्थानीय निकाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजय कुमार, वित्त विभाग के प्रमुख सचिव अनिरुद्ध तिवारी, ग्रामीण विकास एवं पंचायत विभाग की प्रमुख सचिव सीमा जैन, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव तेजवीर सिंह, सचिव स्वतंत्रता सेनानी वी.के. मीणा, सूचना एवं लोक संपर्क विभाग के सचिव गुरकिरत किरपाल सिंह, स्वास्थ्य विभाग के विशेष सचिव मनवेश सिद्धू, सूचना एवं लोक संपर्क विभाग की डायरैक्टर अनिंदिता मित्रा और डी.पी.आई. कॉलेज इन्दु मल्होत्रा शामिल थे।——-

Coronavirus Update (Live)

Coronavirus Update

error: Content is protected !!