ड़ा ओबराए की बदौलत ना उम्मीदी की दलदल में फंसे दुबई से 14 अन्य नौजवान वापिस वतन पहुंचे

कुल 29 नौजवानों में से 10 की हो चुकी है वतन वापसी, शेष 5 नौजवान भी जल्द लौटेगें घर- डा. एस पी सिंह ओबराए

अमृतसर, 3 मार्च।  कंपनी की तरफ से धोखा दिए जाने के कारण दुबई में दर -दर की ठोकर खाने के लिए मज़बूर हुए  29 भारतीय नौजवान में से मंगलवार को 14 अन्य नौजवान वापिस भारत लौट आए है। जिसका श्रेय प्रसिद्ध कारोबारी और सरबत का भला ट्रस्ट के प्रमुख डा एस पी सिंह ओबराए के विशेश प्रयत्नों को जाता है।  जिसके चलते अब केवल 5 नौजवान ही दुबई में फंसे रह गए है।

श्री गुरु रामदास हवाई अड्डा राजासांसी में पहुंचे नौजवानों को लेने के लिए विशेष तौर पर डा. एसपी सिंह ओबराए ने बताया कि इन नौजवानों को दुबई की एक कंपनी ने सक्योरिटी के काम के लिए भारत से दुबई बुलाया था।  परन्तु कुछ महीनों बाद ही पाकिस्तान से सबंधित कंपनी मालिक अपनी कंपनी बंद कर कर भाग गया। उन्होंने बताया कि कंपनी बंद हो जाने से जहां इन नौजवानों का भविष्य धुंधला हो गया, वहीं उनके द्वारा किये गए तीन से छह महीनों के काम की तनख़्वाह भी नहीं दिया गया। जिस कारण इनके सिर पर छत जाने के साथ-साथ दो वक्त की रोटी से भी दो-चार होना पडा।

डा सिंह ने बताया कि जब उक्त नौजवानों ने उनसे संपर्क करके अपनी दास्तां सुनाई तो उन्होंने इन नौजवानों की मुश्किल को देखते हुए अपने ख़र्च पर इन्हे वापस भारत लेकर आने का फ़ैसला लिया। जिसके अंतर्गत वह इन नौजवानों के वापस आने के लिए ज़रूरी कागज़ात मुकम्मल करने के अलावा दुबई से भारत की हवाई टिकटों, जुर्माने,ओवरस्टे का खर्चा भी उन्होंने ख़ुद किया है।

उन्होंने बताया कि कुल 29 नौजवानों में से 10 नौजवान जिनके कागज़ात मुकम्मल थे उनको पहले ही उनके घरों में पहुंचा दिया गया है। जबकि आज 14 और नौजवान दुबई से भारत पहुंच गए हैं। उन्होंने कहा कि शेष बचे 5 नौजवानों को भी जल्द ही कागज़ात मुकम्मल होने उपरांत वापस लाया जाएगा। 

29 नौजवानों में से पंजाब के 18, हरियाणा के 6, हिमाचल के 4 तथा दिल्ली से 1 नौजवान संबंधित

मंगवलवार को वापिस वतन लौटने वालों मेें 11 नौजवान पंजाब, 2 हिमाचल और 1 हरियाणा से सबंधित हैं। जबकि कुल 29 नौजवान में पंजाब के 18, हरियाणा के 6, हिमाचल प्रदेश के 4 और दिल्ली 1 नौजवान शामिल था। पंजाब के कुल 18 नौजवानों में से 7 नौजवान  हो‌शियारपुर जिले से ही सबंधित हैं।

कहा मस्कट में फंसी लड़कियों को बचाने के लिए हर कीमत देने के लिए तैयार, विदेश मंत्रालय भी बनती मदद के लिए आगे आए- ओबराए 

विदेश जाने वाले नौजवानों को नसीहत देते हुए डा.ओबराए ने कहा कि वह एजेंटों की तरफ से बताई गई कंपनी की अच्छी तरह जांच करने उपरांत ही अरब देशों अंदर आएं।  वहीं इस दौरान मस्कट के अंदर फंसी लड़कियों संबंधी बातचीत करते हुए डा ओबराए ने कहा कि वह सभी लड़कियों को बचाने के लिए वह हर कीमत देने के लिए तैयार हैं। परन्तु भारत सरकार का विदेश मंत्रालय भी उनकी बनती मदद के लिए आगे आए। 

नौजवानों ने कहा इश्वर बन कर आए ओबराए

इसी दौरान दुबई से वतन पहुंचे धोखे का शिकार हुए नौजवानों ने नम आंखों से अपनी आपबीती सुनाते हुए कहा कि डा.एसपी सिंह ओबराए तो उनके लिए ईश्वर बन कर आए हैं। उन्होंने कहा कि उनके साथ किए गए इस बड़े परोपकार के लिए वह और उनके परिवार हमेशा डा.ओबराए के ऋणी रहेंगे। इस मौके राजन सिद्धू, ट्रस्ट के सलाहकार सुखदीप सिद्धू, ज़िला प्रधान सुखजिन्दर सिंह होर, जनरल सचिव मनप्रीत संधू, उप प्रधान शिशपाल सिंह लाडी, ख़ज़ांची नवजीत सिंह घई, गुरप्रीत सिंह ढिल्लों आदि के अलावा दुबई से लौटने वाले नौजवानों के माता-पिता भी बड़ी संख्या में मौजूद थे।

डा.एसपी. सिंह ओबराए के प्रयत्नों से मंगलवार को वतन पहुंचे नौजवानों की सूची:-

 1. वरुन वासी होशियारपुर

2.अमनदीप सिंह निवासी चब्बेवाल (होशियारपुर)

3. अमनदीप निवासी चब्बेवाल (होशियारपुर)

4.मनप्रीत सिंह निवासी गढ़शंकर (होशियारपुर)

5. विशाल शर्मा निवासी गढ़संकर (हुशियारपुर)

6.मनदीप सिंह गढ़शंकर (होशियारपुर)

7. प्रवीण कुमार निवासी गढ़शंकर (होशियारपुर)

8. बलविन्दर कुमार निवासी कपूरथला

9. नीतीश चन्दला निवासी पट्याला

10.राज किशोर भार्गव निवासी फगवाड़ा

11. भवनप्रीत सिंह निवासी खरड़

12. दीपक कुमार निवासी पानीपत (हरियाणा)

13.विकरन जोशी निवासी कम (हिमाचल प्रदेश)

14.गोपाल निवासी कम (हिमाचल प्रदेश)

Coronavirus Update (Live)

Coronavirus Update

error: Content is protected !!