पंजाब यूथ कांग्रेस होश्यिारपुर से राज्य स्तरीय लिंग सम्बन्धी जागरूकता मुहिम की शुरूआत करेगी – बरिन्दर ढिल्लों

इस मंतव्य के लिए सभी राजनैतिक और सामाजिक संस्थाओं से आगे आने का किया आह्वान

चंडीगढ़, 13 नवंबर: लिंग समानता के संदेश को बनाए रखने के लिए यूथ कांग्रेस बचपन बचाओ आंदोलन और प्रसिद्ध ऐनजीओ फाइट फॉर राइट की पहलकदमी के साथ होशियारपुर से जागरूकता मुहिम की शुरूआत करेगी। इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए पंजाब यूथ कांग्रेस (पी.वाई.सी.) के प्रधान बरिन्दर सिंह ढिल्लों ने बताया कि यूथ कांग्रेस बचपन बचाओ आंदोलन और प्रसिद्ध एन.जी.ओ फाइट फॉर राइट के साथ मिलकर होशियारपुर से जागरूकता मुहिम की शुरूआत करेगी। इस मंतव्य के लिए समूह राजनैतिक और सामाजिक जत्थेबंदियों को न्योता देते हुए ढिल्लों ने कहा कि यह मुद्दा संकुचित राजनैतिक हितों से ऊपर है और पंजाब यूथ कांग्रेस पंजाब के ग्रामीण क्षेत्रों में इस सम्बन्धी जागरूकता लाएगी।

इस मंतव्य के लिए सिमरनजीत कौर गिल के यत्नों की प्राषंसा करते हुए उन्होंने कहा कि सभी राजनैतिक दलों को इस तरह के यत्नों के लिए आगे आना चाहिए और इसका समर्थन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि लिंग सम्बन्धी योग्य शिक्षा अच्छे गुण पैदा करेगी और बच्चों पर बुरा प्रभाव नहीं डालेगी। हमारे समाज के बहुत से लोग मानते हैं कि सैक्स एजुकेशन सिर्फ परिवारों तक सीमित होनी चाहिए और माता-पिता को खुद इस मुद्दे को उठाना चाहिए और अपने बच्चों को शिक्षित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह विचार कोई अर्थ नहीं रखता क्योंकि इस शिक्षा को एक उचित जरिये की जरूरत है जिसके द्वारा यह हर एक तक पहुंचाई जा सके। इस मुद्दे से निपटने के लिए स्कूल के पाठ्यक्रम में सैक्स एजुकेशन को शामिल करने की महत्ता बारे बात करते हुए पंजाब यूथ कांग्रेस (पी.वाई.सी.) के प्रधान ने कहा कि यह सभी प्राईवेट और सरकारी स्कूलों में सिलेबस के साथ ही लागू किया जा सकता है जिसमें नौजवानों के लिए सैक्स एजुकेशन के सभी पहलूओं को कवर किया जाये।

यह पाठ्यक्रम का महत्वपूर्ण हिस्सा होना चाहिए जो नौजवानों को ऐसे व्यवहारों के अनैतिक और अमानवीय पक्ष को समझने में सहायता करेगा। बच्चों को अच्छे और बुरे ढंग से छूने संबंधी जागरूक करने की जरूरत पर जोर देते हुए श्रीमती सिमरनजीत कौर गिल ने बच्चों के साथ बदसलूकी के कई मामलों में उनके द्वारा की गई तुरंत कार्यवाही के बारे में भी रौशनी डाली। उन्होंने आगे बताया कि उनकी एनजीओ ने पंजाब के स्कूल शिक्षा विभाग की सहायता से राज्य के 200 स्कूलों को कवर किया है और बच्चों को उनके अधिकारों और अन्य सम्बन्धित पहलूओं से अवगत करवाया है। उन्होंने कहा कि यू एन ओ की तरफ से फंड प्राप्त बचपन बचाओ आंदोलन का उद्देश्य हर बच्चे के लिए उपयुक्त सुरक्षित माहौल सृजन करना है। इस मौके पर ‘जन जन की यह आवाज बाल शोषण मुक्त पंजाब’ का एक पोस्टर भी जारी किया गया।

Thepunjabwire
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
error: Content is protected !!