ट्रेन रोको आंदोलन के साथ ही किसानों ने हाईवे को जाम कर किया रोष जाहिर

किसानों का कहना मोदी सरकार हिटलर की तानाशाही नीति​यों का कर रही पालन

गुरदासपुर। पंजाब के 31 किसान संगठनों और कुलहिंद के 250 किसान संघों द्वारा केंद्र में मोदी सरकार द्वारा पास किये गये कृषि कानून के खिलाफ किसान संगठन लगातार संघर्ष कर  रहे है। रोष स्वरुप जहां एक अकूतबुर से, ट्रेन का पहिया जाम किया है।  गुरदासपुर रेलवे ट्रैक पर दिन और रात का धरना आज नौवें दिन भी जारी रहा।

 वहीं हरियाणा में संघर्षरत किसानों पर पुलिस द्वारा किए गए  लाठीचार्ज और योगिंदर यादव और किसान नेताओं के झूठे परचे के विरोध में गुरदासपुर के पंडोरी रोड हाईवे को आज दोपहर 12 बजे से 2 बजे तक पूरी तरह से बंद कर दिया गया।

 प्रदर्शन की अध्यक्षता रमणीक सिंह हुंदल, तारलोक सिंह बेहरामपुर, जसबीर सिंह कट्टोवाल, हरदेव सिंह, बलविंदर सिंह, सुबेग सिंह, सुखदेव सिंह भागोकवन, सुखदेव सिंह भोजराज ने संयुक्त रूप से की। 

विरोध प्रदर्शन को संबोधित करते हुए अजीत सिंह ठक्कर संधू, सतबीर सिंह सुल्तानी, अशोक भारती, पलविंदर सिंह मथोला ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार  हिटलर की तानाशाही नीतियों का पालन कर रही है।  अंबेडकर का लोक राज संविधान को कुचल रहा है।  प्रदर्शनकारी किसानों के खिलाफ झूठे पर्चे दर्ज किए जा रहे हैं।  लेकिन किसान इससे डरते नहीं हैं।  नेताओं ने कहा कि मांगें पूरी होने तक किसान संघर्ष जारी रहेगा।  आज के धरने को संत समाज समिति के एससी सिंह, संत समाज के बाबा हरपिंदर सिंह टहली साहब आदि ने संबोधित किया।

Thepunjabwire
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
error: Content is protected !!