विरोध-किसानों का कहना सभी को मिलकर करना होगी मोदी की किसान विरोधी नीतियों का सामना

तीसरे दिन भी रेलवे स्टेशन पर धरना देकर मोदी सरकार के खिलाफ प्रर्दशन जारी, 

गुरदासपुर, 3 अक्तूबर (मनन सैनी)।  किसान संगठनों की ओर से रेलवे स्टेशन पर शनिवार को तीसरे दिन भी धरने जारी रखा गया। वही इस मौके पर  किसान संगठनों जो कृषि विधेयक बिल के विरोध में केंद्र सरकार का विरोध कर रहे हैं ने एक संयुक्त प्रतिनिधि मडंल भी बनाया। जिसमें किसान नेता सुखदेव सिंह काहलों, अजीत सिंह ठक्कर संधू, पलविंदर सिंह, अवतार सिंह संधू, लखविंदर सिंह, जागीर सिंह जैनपुर शामिल है। जिन्होने ने कहा कि मोदी सरकार कॉरपोरेट घरानों और कंपनियों की सरकार थी, जिसने किसान मारू अध्यादेश जारी किया था, जो किसान के लिए मौत का वारंट है। किसान की एकता को आज संरक्षित करने की जरूरत है। 

किसान संघर्ष समिति के मुख्य संयोजक बलविंदर सिंह, राजू औलख ने कहा कि सभी किसान संगठनों को एक साथ आना चाहिए और मोदी की किसान विरोधी नीतियों का सामना करना चाहिए। इसके अलावा अन्य प्रवक्ताओं ने यह भी कहा कि आज की मोदी सरकार की नीतियां जो किसान मारू मजदूर मारू दुकानदार मारू हैं। हम सभी को मिलकर उनसे निपटना होगा। इसके अलावा बाबा कमलजीत सिंह पंडोरी, रणजीत सिंह श्रीहरगोबिंदपुर, कपूर सिंह घुमन, तारलोक सिंह बेहरामपुर, हरदेव सिंह चित्ती अमरीक सिंह धर्मी फौजी, अजीब सिंह और ठाकुर थुरा सिंह, बलबीर सिंह, चन्नन सिंह, दलीप सिंह, अजीत सिंह, जागीर सिंह, अशोक भारती, पलविंदर सिंह मदोला, अजायब सिंह आदि उपस्थित थे।

Thepunjabwire
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
error: Content is protected !!