कैप्टन को आज करीब चार साल बाद जनता की याद आते ही राजनीतिक लाभ भी याद आये : राजिंदर बिट्टा

ओ.बी.सी. मोर्चा द्वारा जहरीली शराब कांड को लेकर कांग्रेस सरकार के खिलाफ प्रदर्शन, फूंका पुतला I

अमृतसर: 13 अगस्त । प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा क दिशा-निर्देश पर भाजपा ओ.बी.सी. मोर्चा द्वारा जिलाध्यक्ष कंवलजीत सिंह सन्नी की अध्यक्षता में जहरीली शराब कांड को लेकर पंजाब की कांग्रेस सरकार के विरुद्ध भंडारी पुल पर सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने पुतला फूंक कर रोष-प्रदर्शन किया गया। इस प्रदर्शन में ओ.बी.सी. मोर्चा के राष्ट्रीय सचिव बलविंदर बब्बा,  ओ.बी.सी. मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राजिंदर बिट्टा तथा ओबीसी मोर्चा के प्रदेश महामंत्री कंवरबीर सिंह मंजिल विशेष रूप से उपस्थित हुए।

      राजिंदर बिट्टा ने इस अवसर पर मीडिया से बात करते हुए कहाकि जहरीली शराब कांड कांग्रसी नेताओं के कारण हुआ है और असली अपराधी यही नेता हैं, जो पुलिस पर राजनीतिक दबाव बना कर उसका काम नहीं करने देते। उन्होंने कहाकि पहले कैप्टन पीड़ितों को 5-5 लाख रूपये देकर अपना राजनीतिक मकसद हल करने में लगे हैं और I कैप्टन को आज करीब चार साल बाद जनता की याद आने लगी है I राजिंदर बिट्टा ने कैप्टन अमरिंदर सिंह से सवाल किया कि आपने तो पवित्र गुटखा साहिब हाथ में लेकर तख़्त श्री दमदमा साहिब की तरफ मुँह करके जनता के सामने पंजाब से चार हफ़्तों में नशा खत्म करने की सौगंध खाई थी, लेकिन नशा खत्म करना तो दूर उल्टा कांग्रेसी नेताओं के सरंक्षण में नशा माफिया ने जहरीली शराब बेच कर माझा के तीन जिलों में 123 लोगों की जान ले ली I बिट्टा ने कहाकि आबकारी विभाग खुद कैप्टन साहिब ने अपने पास रखा हुआ है जिससे कि इस त्रासदी की सीधे तौर पर जिम्मेवारी कैप्टन अमरिंदर सिंह की ही बनती है और कैप्टन को इसके लिए इस्तीफा देना चाहिएI

कंवरबीर सिंह मंजिल ने मीडिया से बात करते हुए कहाकि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह तथा पंजाब की कांग्रेस सरकार दोनों कुंभकर्णी नींद में सोए हुए हैं और उन्हें जहरीली शराब से हुई मासूम व बेबस लोगों की मौत दिखाई नहीं देती I प्रदेश में सरकार व कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नही है, जनता राम भरोसे है। ओबीसी मोर्चा कुम्भकरणी नींद में सोये कैप्टन को जगाने की कोशिश कर रहा है I मंजिल ने कहाकि कैप्टन जहरीली शराब से मारे गए 123 लोगों की मौत के जिम्मेवार हैं और उन्हें नैतिकता के आधार पर गद्दी छोड़ कर इस्तीफा देना चाहिए। उन्होंने कैप्टन से मांग की कि पीड़ित परिवारों को 25 लाख रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाए । उन्होंने कहाकि अगर पंजाब सरकार पीड़ितों के परिवारों का सुध नहीं लेती है और दोषियों को दंडित नहीं करती है, तो ओ.बी.सी. मोर्चा अपना संघर्ष और तेज करेगा और मुख्यमंत्री आवास और कार्यालय का भी घेराव करने से गुरेज नहीं करेगा ।

इस अवसर पर धर्मवीर बावा, कुलदीप सिंह लड्डू, हरविनोद सिंह, बलविंदर सिंह, मंजीत सिंह, हरपाल सिंह, सुखविंदर सिंह सुखा, मैडम संगीता, रंजीत सिंह, गुरप्रताप सिंह सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थे I

Coronavirus Update (Live)

Coronavirus Update

error: Content is protected !!