पंजाब वासियों की जिन्दगी से खिलवाड़ करना बंद करें कैप्टन, नैतिकता के आधार पर छोड़े गद्दी : अश्वनी शर्मा

शराब त्रासदी में जान गंवाने वालों के परिवारों के साथ भाजपा की पूर्ण संवेदनाएं : शर्मा

नशे की पालनहार कांग्रेस द्वारा ली गई 120 जानों की बलि के इन्साफ के लिए भाजपा सडकों पर उतर करेगी आन्दोलन : अश्वनी शर्मा

माझा के पीड़ित परिवारों का दुःख को साँझा करने तीन जिलों के गाँवों में घर-घर पहुंचे अश्वनी शर्मा I

अमृतसर: 6 अगस्त । कैप्टन अमरिंदर सिंह व कांग्रेस सरकार के कुशासन तथा बेलगाम नशा माफिया के चलते नाजायज जहरीली शराब से होने वाली मासूम मौतों का आंकड़ा रोज़ाना बढ़ रहा है I ऐसे में मृतकों के पीड़ित परिवारों से मिल कर उनका दुःख बाँटने तथा मौजूदा हालात का जायजा लेने के लिए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने बटाला, अमृतसर व तरनतारन जिले के गांवों का दौरा किया I अश्वनी शर्मा के पहुँचते ही पीड़ित परिवारों के आँसू छलक पड़े तथा पीड़ित परिवारों ने कांग्रेस सरकार के कुशासन व अत्याचारों से भरे जज्बातों को भावुक होकर शर्मा के सामने रखा I शर्मा ने पीड़ित परिवारों की दुःख की दास्तान सुनने के बाद आश्वासन दिया कि भाजपा हर हालत में इन्साफ दिलवाने तक उनके साथ खड़ी है I

       अश्वनी शर्मा ने इस अवसर पर मीडिया से बात करते हुए बताया कि पंजाब के तीन जिलों में नाजायज जहरीली शराब के मौत के तांडव में 120 मासूम लोगों की जान जा चुकी है तथा अभी भी कई लोग अस्पताल में जिन्दगी और मौत की लड़ाई लड़ रहे हैं I इसके लिए सीधे तौर पर कैप्टन अमरिंदर सिंह व उनके नेता जिम्मेवार हैं, क्यूंकि राजनीतिक दबाव बना कर यह कांग्रेसी नेता अपने-अपने इलाकों में पुलिस को उसका काम करने से रोकते हैं I उधर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस मामले में अपनी साख बचाने के लिए एक तरफ पुलिस अधिकारीयों को बलि का बकरा बनाया तो दूसरी तरफ शराब के छोटे तस्करों की गिरफ्तारी शुरू कर दी, लेकिन बड़ी मछलियाँ अभी भी उनकी पहुँच से दूर हैं और नशा माफिया को पंजाब की कांग्रेस सरकार का सरंक्षण प्राप्त किया I

       अश्वनी शर्मा ने कहा कि लॉक-डाउन के दौरान पंजाब में अवैध शराब की बेतहाशा बिक्री होती रही और कांग्रेसी नेताओं ने शराब माफिया के साथ मिलकर हजारों करोड़ रूपये कमाए तथा पंजाब के राजस्व विभाग को 5600 करोड़ रूपये का घाटा सहन करना पड़ा I भाजपा के विरोध पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी साख बचाने के लिए एस.आई.टी. गठित कर नशा मामलों की जाँच करवाई, लेकिन जब इसमें कांग्रेसी नेताओं के नाम उजागर होने लगे तो एस.आई.टी. की जाँच को ठन्डे बसते में डाल दिया गया I इसके बाद भी अवैध शराब की बिक्री का गोरखधंधा प्रदेश में लगातार जारी है I

अश्वनी शर्मा ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को सचेत करते हुए कहा कि ऐसी लाशों की घटिया राजनीती से बाज आयें, क्यूंकि अगर प्रदेश की जवानी नशे से मौत की गहरी काली खाई में समा जाएगी, तो वोट किससे मांगोगे ! शर्मा ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह को इस मामले की सी.बी.आई. जाँच की मांग करनी चाहिए थी, जबकि हम एक जिम्मेवार विपक्ष की भूमिका निभाते हुए इस हृदय विदारक घटना की सी.बी.आई. जाँच की केंद्र सरकार से मांग कर चुके है और केन्द्रीय नेतृत्व ने इस मामले पर गृह-मंत्रालय से बात करके जल्द से जल्द उचित  कारवाई का आश्वासन दिया है I

अश्वनी शर्मा ने कहाकि भाजपा इन्साफ दिलाने के लिए पीड़ितों परिवारों की इस लड़ाई में कंधे से कन्धा मिला कर चलेगी I शर्मा ने कहाकि कांग्रेस सरकार के खिलाफ भाजपा ने प्रदेश भर में आन्दोलन छेड़ दिया है और  भारतीय जनता युवा मोर्चा तथा भाजपा महिला मोर्चा जनता को साथ लेकर कांग्रेस सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं और भाजपा के अन्य मोर्चे व सैल नशा मामले तथा कैप्टन को गद्दी छोड़ने के लिए मजबूर होने तक सडकों पर उतरते रहेंगे, ताकि कैप्टन अमरिंदर सिंह खुद शर्म के मारे गद्दी छोड़ दें और पंजाब की कांग्रेस सरकार के कुशासन से त्राहि-त्राहि कर रही जनता को निजात मिल सके I

इस अवसर पर राष्ट्रीय सचिव तरुण चुघ, राज्यसभा सांसद श्वेत मलिक, प्रदेश महामंत्री जीवन गुप्ता, पूर्व प्रदेश मंत्री जगदीश साहनी, प्रदेश उपाध्यक्ष राजेश बागा, राकेश गिल, राजिंदर मोहन सिंह छीना, प्रदेश सचिव राजेश हनी, रीना जेटली, प्रदेश मिडिया सह-प्रमुख जनार्दन शर्मा, अरुण शर्मा, केवल कुमार, नरेश शर्मा, कंवर जगदीप सिंह, राहुल महेश्वरी, संजीव खन्ना, अनुज भंडारी, बटाला जिलाध्यक्ष राकेश भाटिया, अमृतसर देहाती जिलाध्यक्ष हरदियाल सिंह ओळख, तरनतारन जिलाध्यक्ष सरबजीत कौर बाठ, राजीव शर्मा (माणा) आदि उपस्थित थे I

Coronavirus Update (Live)

Coronavirus Update

error: Content is protected !!