बेअदबी कांड के आरोपियों की जमानत अर्जी खारिज होने से डेरे को लगा बड़ा झटका- एसएसपी सोहल

गुरदासपुर, 31 जुलाई।  बहुचर्चित बरगाड़ी बेअदबी कांड़ के तहत पंजाब पुलिस की स्पेशल जांच टीम के शिकंजे में आए डेरा सच्चा सौदा को उस समय बड़ा झटका लगा जब उसके दो समर्थकों की पेशगी जमानत अर्जीयां को अतिरिक्त जिला और सैशन जज फरीदकोट एच एस लेखी ने खारिज कर दिया। यह जानकारी एसआईटी के प्रमुख सदस्य एसएसपी गुरदासपुर डा राजिंदर सिंह सोहल ने देते हुए बताया  कि जिन दो आरोपियों की जमानत अर्जी खारिज हुए है, उनमें सुखजिंदर सिंह उर्फ सनी कंडा और शक्ति  सिंह शामिल है। 

डॅा सोहल ने बताया कि अब उक्त दोनो आरोपियों की गिरफ्तारी का रास्ता साफ हो गया है। उक्त आरोपियों को सीबीआई ने क्लीन चिट दे दी थी और निर्धारित समय के अंदर अदालत में चलान पेश ना करने के चलते उक्त को जमानत भी मिल गई थी। जब उनकी एसआईटी ने डीआजी रणबीर सिंह खटड़ा की अगवाई तले इस बेअदबी कांड़ की जांच की शुरुआत की तो सच की कई परते बाहर आई तथा डेरा सच्चा सौदा पूरी तरह बेनकाब हो गया। 

एसएसपी ने बताया कि उक्त आरोपियों ने 2015 में बुर्ज जवाहर सिंह वाला से पावन स्वरुप चोरी किए, बाजा खाना में पोस्टर लगाए और श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के अंग बिखेरे थे। एसआईटी ने जांच के उपरांत आरोपियों के खिलाफ पहले से दर्ज मामले में  अन्य नई धाराएं 414,120 बी, 511 भी शामिल की। इन नई धाराओं के चलते आरोपियों की किसी भी वक्त गिरफ्तारी संभव थी परन्तु वह पेशगी जमानत के लिए अदालत चले गए। मामले की संगीनता को देखते हुए अदालत ने भी जमानत अर्जी नामंजूर कर दी। 

डॅा सोहल ने बताया कि उनकी जांच प्रक्रिया ठोस रुप में और सही दिशा में आगे बढ़ रही है। किसी भी दोषी को बख्शा नही जाएगा। उन्होने बताया कि अब तक 11 आरोपी नामजद किए गए है, जिनमें 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर चालान भी पेश किए जा चुके है। राम रहीम के इलावा 3 अन्य आरोपी भी नामजद किए गए है। एसएसपी सोहल ने बताया कि जांच टीम के शेष सदस्य  डीएसपी सुलक्खन सिंह, डीएसपी लखबीर सिंह और इंस्पेक्ट दलबीर सिंह की ओर से जांच की जा रही है। 

Coronavirus Update (Live)

Coronavirus Update

error: Content is protected !!