बब्बेहाली ने की जलस्तोत्र विभाग में हजारों पोस्टें खत्म करने की आलोचना, कहा घर घर नौकरी का वादा था मगर रोजी रोटी भी छीन रही कांग्रेस

गुरदासपुर, 21 जुलाई (मनन सैनी)। शिअद के जिला प्रधान व पूर्व मुख्य संसदीय सचिव गुरबचन सिंह बब्बेहाली ने पंजाब सरकार द्वारा पुनर्गठन योजना के तहत जल स्रोत विभाग में मुलाजिमों की प्रवानित 8657 रेगूलर पोस्टें खत्म किए जाने की कड़ी आलोचना की है।

बब्बेहाली ने कहा कि ये विबाग 1849 में अस्तित्व में आया था। फिर अन्य विभाग मिलाकर यह जल स्रोत बना दिया। लंबा समय 24,263 पोस्टों पर काम करने वाले इस विभाग की 8657 खत्म हुई पोस्टों में 97 फीसदी दर्जाचार पोस्टें है, जबकि पंजाब जल रेगूलेशन व विकास अथारिटी में सिर्फ 70 पोस्टें भरने की प्रवानगी है। विभाग के पुनर्गठन के नाम पर कांग्रेस सरकार ने हजारों मुलाजिमों के साथ धोखा किया है। कांग्रेस सरकार जब भी सत्ता में आई है, हर बार मुलाजिम विरोधी साबित हुई है।

उन्होंने कहा कि चुनावों के समय अमरिंदर सिंह ने पंजाब वासियों के साथ घर-घर नौकरी का वादा किया था। मगर नौकरियां देने की बजाए पहले से नौकरियां करने वालों की रोजी रोटी भी कांग्रेस सरकार ने छीन ली है। उन्होंने कहा कि अन्य वर्गों की तरह मुलाजिम वर्ग भी आने वाले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस सरकार को सबक सिखाने के मूड़ में अब से ही दिखाई दे रहे है।

error: Content is protected !!