पंजाब सरकार सरकारी स्कूलों में बुनियादी ढांचे और शिक्षा के मानक को सुधारने के लिए अथक कार्य कर रही है-सिंगला

सरकारी स्कूलों में 364 कमरों के निर्माण के लिए नाबार्ड के अधीन 10.92 करोड़ रुपए मंज़ूर हुए-विजय इंदर सिंगला

चंडीगढ़, 17 जुलाई: पंजाब के शिक्षा मंत्री श्री विजय इंदर सिंगला ने आज बताया कि राज्य सरकार द्वारा पंजाब के 304 सरकारी स्कूलों में 364 कमरों के निर्माण के लिए प्रोजैक्ट बनाया गया है और इस कार्य के लिए 10.92 करोड़ रुपए मंज़ूर किए गए हैं।  कैबिनेट मंत्री ने कहा कि सरकार सरकारी स्कूलों में बुनियादी ढांचे और शिक्षा के मानक में सुधार लाने के लिए अथक यत्न कर रही है। उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग इन कमरों के निर्माण के लिए इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री की गुणवत्ता को यकीनी बनाएगा और कमरों के निर्माण के लिए रखी गई राशि पूरी पारदर्शिता के साथ इस्तेमाल की जाएगी।

विस्तार में विवरण देते हुए श्री विजय इंदर सिंगला ने बताया कि उक्त 304 स्कूलों में जगह की कमी के सम्मुख रखते हुए नाबार्ड के आर.आई.डी.एफ.-एक्स.एक्स.वी. प्रोजैक्ट के अधीन कमरों के निर्माण का प्रस्ताव वित्त विभाग को भेजा गया था और स्कूल शिक्षा विभाग को यह प्रोजैक्ट आरंभ करने की मंज़ूरी मिल गई है। उन्होंने कहा कि हर स्कूल को प्रति कमरे के निर्माण के लिए 3 लाख रुपए दिए जाएंगे और कमरों की बनावट सम्बन्धी विवरण जिला शिक्षा अधिकारियों को पहले ही भेजे जा चुके हैं। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि बुनियादी ढांचे के विकास के अलावा राज्य सरकार ने आम स्कूलों को स्मार्ट स्कूलों में तबदील करने पर भी ध्यान केन्द्रित किया है। उन्होंने कहा कि नई ई-लर्निंग तकनीकों ने शिक्षा की गुणवत्ता में स्पष्ट रूप से सुधार लाया है, जिस कारण नतीजों में सुधार हुआ है। श्री सिंगला ने कहा कि कोविड-19 महामारी के बावजूद सरकारी स्कूल अध्यापक ई-लर्निंग तकनीकों के द्वारा अधिक-से-अधिक विद्यार्थियों तक पहुँचने के लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं।

error: Content is protected !!