सरहदें बंद होने से प्यार तथा शादियों पर भी लगा लाॅकडाउन, दो हिंदू परिवारों की शादियां रुकी

पाकिस्तानी मंगेतर ने भारत-पाकिस्तान सरकार से शादी के लिये बार्डर खोलने की अपील की

मनन सैनी

गुरदासपुर 23 जून।  कोरोना वायरस के प्रकोप ने जहां पूरे विश्व को प्रभावित किया है।  वहीं ऐसे में भारत-पाकिस्तान के लोगों के बीच होने वाली शादियां भी काफी प्रभावित हो रही  हैं। सरहदें बंद होने से पहले व्यापार पर इसका असर पड़ा अब प्यार पर लाॅकडाउन लग गया दिख रहा है। जिसके चलते दो हिंदू परिवारों की शादियां रुकी हुई है।  

इस संबंधी पाकिस्तान की समायला (35) जोकि यूहानाबाद लाहौर की रहने वाली है ने बताया है कि उसकी मंगनी कमल कल्याण पुत्र ओम प्रकाश मधूबन कालोनी, राज नगर जालंधर के साथ सन 2015 में हो चुकी है। उसने आगे बताया कि ओम प्रकाश रिश्ते में उसके मामा लगते हैं। उनके परिवार को उसके भाई की शादी पर लाहौर बुलाया था। हालांकि वह पाकिस्तान का वीजा न मिलने के कारण शादी में शमिल नहीं हो सके। परन्तु तब से दोनों परिवारों का आपस में मेलजोल बढ़ गया। 

समायला ने बताया कि उसकी तथा कमल कल्याण की आपस में अकसर बातचीत होती रहती थी। धीरे धीरे पता नहीं कब वह एक दूसरे के निकट आ गये तथा वह एक दूसरे के प्यार में बंध गये। दोनों ने अपने परिवार वालों को एक दूसरे से हुये प्यार का इकाहार करते हुये आपस में शादी करवाने की बात सामने रखी। जिसे तुरन्त दोनों परिवारों ने उनके प्यार को मान्यता देते हुये रिश्ता पक्का कर दिया। मार्च में इनका इरादा शादी करने का था। जिसपर कमल के पिता ओम प्रकाश ने समायला के पूरे परिवार को भारत के वीजे हेतू स्पानसरशिप दस्तावेका त्यार करवा दिये थे। जिनको पाकिस्तान भेजना था कि करोनावायरस के कारण लाकडाऊन तथा कफ्र्यू के चलते अभी तक यह कागकाात पाकिस्तान नहीं भिजवाये जा सके हैं।

समायला ने प्रधानमंत्री नरिन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह तथा विदेश मंत्री जय शंकर से अपील की है कि वह पाकिस्तान स्थित भारतीय उच्चायुक्त को निर्देश जारी करें कि जिन पाकिस्तानी हिन्दू लड़कियों की शादी भारत में होने वाली है उन्हें भारत का वीजा जारी किया जाये। समायला ने कहा है कि उसका परिवार उसकी शादी को लेकर काफी चिन्तित हैं। उस से भी  छोटी उसकी और बहने हैं। उनके भी रिश्ते होने हैं। पर समायला की शादी रूकी होने के कारण उनके रिश्ते भी रूके हुये हैं। वहीं कमल कल्याण तथा उनके माता पिता ने भी भारत सरकार से अपील की है कि वह समायला तथा उसके परिवार को भारत का वीजा प्रदान करे। 

इसी प्रकार एक अन्य मामले में श्री हरगोबिन्दपुर में रहने वाले एक युवक अमित का रिश्ता कराची की रहने वाली सुमन के साथ तय हो चुका है। अब वीजा लेकर अमित सपुत्र रमेश वासी श्री हरगोबिन्दपुर को अपने परिवार के साथ पाकिस्तान जाना है। पर करोनावायरस के प्रकोप के कारण भारत-पाकिस्तान के बीच होने वाले लोगों की शादियां रूकी हुई हैं। जिसके कारण दोनों देशों की जनता इस बात को लेकर काफी चिन्तित हैं कि कब करोनावायरस का प्रकोप कम होगा तथा पुन: जीवन पटरी पर आ सकेगा। 

error: Content is protected !!