पठानकोट के रंजीत सागर डैम की झील में डूबने से दो चचेरे भाईयों की मौत, गुरदासपुर में हुआ संस्कार

मनन सैनी/ नवदीप शर्मा

गुरदासपुर /पठानकोट।बुधवार देर शाम आरएसडी (रणजीत सागर बांध) झील में डूबे दोनों युवकों की लाशों को पुलिस ने देर शाम गोताखोरों की मदद से ढूंढ निकाला। दोनों युवक आपस में चचेरे भाई थे और गुरदासपुर के तिब्बड़ी रोड हनुमान चौक के रहने वाले थे। बुधवार को रणजीत सागर झील में नहाते हुए एक युवक पानी के बीच फंस गया। दूसरा युवक उसे बचाने गया तो वह भी पानी की गहराई में समा गया। दोनों मृतकों की पहचान अभिषेक नंदा और सुवांश नंदा निवासी निवासी हनुमान चौक तिब्बड़ी रोड गुरदासपुर के रूप में हुई है।

सुवांश नंदा की आयु 17 और अभिषेक की उम्र 25 वर्ष है। जानकारी के मुताबिक दोनों जंडवाल में अपने रिश्तेदार के घर आए थे। बुधवार को अभिषेक और सुवांश नंदा कुछ दोस्तों के साथ झील पर आए और नहाते वक्त हादसे का शिकार बन गए। पुलिस और स्थानीय लोगों की मदद से दोनों के शवों को बाहर निकाला गया। परिजनों को भी पुलिस की तरफ से सूचित किया गया है।

वहीं गुरुवार को गुरदासपुर के मेहर चंद रोड पर स्थित श्मशान घाट में दोनों का अंतिम संस्कार कर दिया। सुवांश की बहन का कनाडा मे स्टडीबेस पर गई हुई है शुभम को भी उसके माता-पिता वहां पर पढ़ाई पूरी करने के बाद भेजने का सपना देख रहे थे। लेकिन क्या पता था वह जवानी में ही सभी को इतना बड़ा दुख देकर हमेशा के लिए चला जाए गा।इसी तरह अभिषेक भी अपने काम में बहुत आगे जाने का सपना देख रहा था लेकिन वह सपना पूरा करने से पहले ही अपनी जिंदगी से हार गया। अंतिम यात्रा में दोनों के दोस्त भी पहुंचे हुए थे।

Coronavirus Update (Live)

Coronavirus Update

error: Content is protected !!