प्रधान मंत्री ने पंजाब की सबसे छोटी आयु की महिला सरपंच पल्लवी ठाकुर के साथ राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के मौके पर की बात

नरेन्द्र मोदी ने पंजाब सरकार की तरफ से लॉकडाऊन के दौरान गेहूँ की खरीद के लिए किये गये प्रबंधों की की सराहना

प्रधान मंत्री द्वारा धरती माँ को बचाने के लिए यूरीए का प्रयोग आधा करने के लिए किसानों को की गई अपील

चंडीगढ़, 24 अप्रैल:देश के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने पंजाब की सबसे छोटी आयु की महिला सरपंच पल्लवी ठाकुर के साथ आज राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के मौके पर वीडियो कॉन्फ्ऱेंस के द्वारा बातचीत करके पंचायती राज संस्थाओं के कामकाज सम्बन्धी जानकारी हासिल की। पल्लवी ठाकुर पठानकोट जि़ले के ब्लॉक धारकलां के गाँव हाड़ा की सरपंच है।प्रधान मंत्री मोदी के साथ बातचीत के दौरान सरपंच पल्लवी ठाकुर ने बताया कि पंजाब सरकार की तरफ से कोरोना वायरस के कारण किये गए लॉकडाउन के दौरान गेहूँ की कटाई, खरीद और ढुलाई के लिए पुख़ता प्रबंध किये गए हैं।

पल्लवी ने बताया कि पंजाब सरकार ने कोरोना को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन दौरान गेहूँ की सुचारू खरीद के लिए चार-पाँच गाँवों के कलस्टर बना कर मंडियां बनाईं हैं। मंडियों में लोगों का जलसा होने से रोकने के लिए होलोग्राम वाली पर्ची तारीख़ डाल कर किसानों को दी जाती है और सिफऱ् होलोग्राम पर्ची वाला किसान निश्चित तारीख़ को गेहूँ मंडी में ले जा सकता। इसके अलावा उन्होंने प्रधान मंत्री को बताया कि पंजाब सरकार की तरफ से किसानों, मज़दूरों और आढ़तियों के लिए कोरोना वायरस से बचाव के लिए जारी की हिदायतों की पालना यकीनी बनाने के लिए पंचायतें अहम भूमिका निभा रही हैं।

उन्होंने प्रधान मंत्री को बताया कि गेहूँ की कटाई के समय दो मीटर की दूरी, हाथ, नाक और मुँह ढक कर रखेें, बार बार हाथ धोने और एक दूसरे के जूठे बर्तन न बरतने संबंधी पंजाब सरकार की तरफ से जारी की हिदायतों संबंधी भी पंचायतों की तरफ से कामगारों को जागरूक किया जा रहा है और इनकी पालना यकीनी बनाई जा रही है।इसके अलावा पल्लवी ने प्रधान मंत्री को यह अवगत करवाया कि लॉकडउन के ऐलान के पहले दिन से ही पंजाब के गाँवों में पंचायतों ने गाँवों को कोरोना से सुरक्षित रखने के लिए गाँवों की नाकेबन्दी करके अनावश्यक आवाजाही नहीं होने दी।

इस बातचीत के दौरान प्रधान मंत्री ने कहा कि देश ख़ास कर पंजाब के किसानों ने कड़ी मुशक्कत करके देश का अन्न भंडार भरा है। उन्होंने कोरोना वायरस के कारण पैदा हुई स्थिति के दौरान किसानों की तरफ से देश के लोगों को खाना पहुँचाने के अलावा दूध और फल पहुँचाने के लिए किये गए प्रयासों की भरपूर प्रशंसा की। इसके साथ ही प्रधान मंत्री ने धरती माँ को बचाने के लिए किसानों को यूरीए का प्रयोग आधा करने की अपील भी की।

Print Friendly, PDF & Email
Thepunjabwire
  • 144
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    144
    Shares
error: Content is protected !!