पटियाला फाउंडेशन के संकल्प ‘चिल्ड्रेन चालान बुक’ को मिली राष्ट्रीय मान्यता

उप-राष्ट्रपति एम. वैंकईया नायडू द्वारा ‘दा विजन ऑफ अंत्योदय’  पुस्तक का अनावरण 

चंडीगढ़, 12 फरवरी । भारत के उप-राष्ट्रपति श्री वैंकईया नायडू ने आज शाम नयी दिल्ली में सरदार वल्लभ भाई पटेल कॉन्फ्रेंस हॉल में ‘दी विजन ऑफ अंत्योदय’ पुस्तक का अनावरण किया।यह पुस्तक भारत में अंत्योदय आधारित उत्तम अभ्यासों का एक दस्तावेज और संग्रह है।

यह गर्व वाली बात है कि पटियाला फाऊंडेशन – साल 2009 से सामाजिक क्षेत्र में काम कर रही एक पटियाला आधारित एन.जी.ओ है और जिसको आईएसआरएन (इंडियन सोशल रिसपांसीबिलटी नैटवर्क) और भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय द्वारा आरंभ किए गए प्रोजैक्ट के अधीन इस पुस्तक में दर्शाया गया है।पटियाला फाउंडेशन की तरफ से अपने सडक़ सुरक्षा प्रोजैक्ट ‘सडक़’ के अधीन डिज़ाइन की गई ‘चिल्ड्रेन चालान बुक’ को सर्वोत्त्म अभ्यासों के लिए चुना गया और इस पुस्तक को राष्ट्रीय मान्यता मिली।

पटियाला फाउंडेशन के चीफ फंकशनरी श्री रवि एस आहलूवालीया ने दिल्ली में पुस्तक के अनावरण के समागम में शिरकत की। उनकी तरफ से 2017 में शुरू किये सडक़ सुरक्षा प्रोजैक्ट ‘सडक़’ के दौरान अपने तज़रबों संबंधी बताते हुये कहा कि यह उनके लिए विकास और जानकारी की निजी यात्रा रहा है। सडक़ों पर होते हादसों ने उनको सडक़ सुरक्षा संबंधी इस पहलकदमी के लिए प्रेरित किया। वह सडक़ हादसों की समस्या का प्रौद्यौगिकी आधारित वैज्ञानिक हल मुहैया करवाने और जागरूकता पैदा करने के लिए स्कूली बच्चों, कालेज और यूनिवर्सिटी के विद्यार्थियों, चालकों और अन्य भाईवालों के साथ मिल कर काम करते हैं।

उन्होंने ‘चिल्ड्रेन चालान बुक बच्चों को सडक़ सुरक्षा के बारे में जागरूक करन के लिए डिज़ाइन की है। पटियाला फाऊंडेशन ने अब तक पटियाला के स्कूली बच्चों को ‘चिल्ड्रेन चालान बुक की 2000 कापियों बाँट दीं हैं।बच्चों की सक्रिय फीडबैक के साथ सडक़ सुरक्षा के प्रति माँ बाप के व्यवहार को एक सीख भी मिलती है जिससे सडक़ हादसों के बढ़ रहे खतरे का हल ढूँढने के लिए उपयुक्त रणनीतियां बनाने में सहायता मिलती है।

Print Friendly, PDF & Email
Thepunjabwire
  • 2
  • 70
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    72
    Shares
error: Content is protected !!