एएसआई समेत तीन लोगो के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज

पंजाब पुलिस में तैनात एक एएसआई ने जमीनी विवाद और नौकरी का पूरा बेनिफिट पहली पत्नी को देने के तहत किए गए एग्रीमेंट के चलते अपनी पहली पत्नी और गोद ली भतीजी को जहरीला पदार्थ देकर उनकी हत्या कर दी। इस संबंधी थाना घुम्मन कला की पुलिस ने उक्त मामले में तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है जबकि आरोपी फिलहाल फरार चल रहे हैं। आरोपी एएसआई मंगल सिंह नौशहरा मज्जा सिंह पुलिस चौकी में तैनात है। मृतका की पहचान राजबीर कौर तथा गुरप्रीत कौर के रुप में हुई।

जानकारी देते हुए मृतका राजबीर कौर के भाई निर्मल सिंह पुत्र दान सिंह निवासी गांव बल्ल ने बताया कि उसके पति गांव गग्गोवाल निवासी एएसआई मंगल सिंह ने जमीन और अन्य जायदाद के लालच में उनकी बहन और उसकी ओर से गोद ली गई मंगल सिंह की भतीजी गुरप्रीत कौर की पहले जहरीली दवाई देकर और बाद में गला दबाकर हत्या कर दी। मंगल सिंह द्वारा हत्या को सुसाइड दिखाने के लिए उसके गले में फंदा डालकर पंखे से लटका दिया और बाद में घर से फरार हो गया। पुलिस ने निर्मल सिंह के बयानों के आधार पर पुलिस चौकी नौशहरा मज्झा सिंह में तैनात एएसआई मंगल सिंह,उसकी दूसरी पत्नी सलविंदर कौर उर्फ सोनिया व उसके पिता वस्सन सिंह पुत्र चरण सिंह निवासी गग्गोवाल के खिलाफ धारा हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है।

मृतका के भाई निर्मल सिंह ने बताया कि उसकी बहन और मंगल सिंह की शादी 18-1-1991 को हुई थी। जिसके चलते उसका एक बेटा व एक बेटी है। जबकि मंगल सिंह के बड़े भाई की मौत के बाद उसकी पत्नी की ओर से दूसरी शादी कर लेने के बाद उनकी बेटी गुरप्रीत कौर को गोद ले लिया। इस उपरांत बाद दोनों पति पत्नी में काफी झगड़ा रहता था। जिसके चलते कई बार गणमान्य लोगों द्वारा बैठकर समझौता भी करवाया गया। झगड़े का मुख्य कारण मंगल सिंह द्वारा दूसरी शादी करने की बात कहते हुए उसकी बहन को छोड़ देना चाहता था। लंबे समय तक चले विवाद के बाद आखिर में पंचायत के सामने बैठकर एग्रीमेंट हुआ। जिसमें मंगल सिंह ने अपने हिस्से से उनकी बहन को एक एकड़ जमीन और अपनी नौकरी की सेवानिवृत्त के बाद मिलने वाले सभी बेनिफेट उसकी बहन को देने का लिखित एग्रीमेंट किया। इस एग्रीमेंट के बाद 2008 में आरोपी मंगल सिंह ने सलविंदर कौर से दूसरी शादी कर ली। उन्होंने बताया कि उनकी बहन की बेटी की शादी हो चुकी है। जबकि बेटा अपने पिता के साथ रहता है। उनकी बहन अपनी गोद ली बेटी गुरप्रीत के साथ उसी घर के निचले हिस्से में रहती थी। इस संबंधी प्रभारी राम सिंह ने बताया कि उक्त मामले में हत्या का केस दर्ज किया गया है।

Print Friendly, PDF & Email
Thepunjabwire
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
error: Content is protected !!