गुरदासपुर में बंद को मिला नाम मात्र समर्थन, खुले रहे बाजार

शहर में रोष मार्च निकालने के बाद केंद्र सरकार जलाया पुतला 


मनन सैनी

गुरदासपुर। केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ ​​​बुधवार को श्रामिक संगठनों की ओर से बुलाई गई  भारत बंद की काल को गुरदासपुर में नाम मात्र सर्मथन मिला। जिले में केवल बंद को रोष मार्च निकालने के उपरांत केंद्र सरकार के पुतले जलाए गए। बंद को सफल बनाने के लिए सार्वजनिक संगठनों की ओर से नेहरू पार्क में इकट्ठे होने के बाद शहर में रोष मार्च निकाल केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। जिसके बाद उन्होंने  केंद्र सरकार का पुतला जलाकर रोष व्यक्त किया।

हालांकि गुरदासपुर में बंद को भरपूर समर्थन तो नहीं मिला परन्तु संगठनों की ओर से केंद्र सरकार की नीतियों के ​खिलाफ खूब भड़ास निकाली गई। संगठनों के नेताओं का कहना है कि केंद्र सरकार द्वारा लिए गए सभी फैसले लोक विरोधी साबित हुए हैं। जिस कारण देश की जनता में केंद्र सरकार के प्रति भारी रोष व्याप्त है। वहीं इस दौरान संगठन के नेताओं द्वारा डीसी गुरदासपुर को केंद्र सरकार के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा गया।

 शहर में रोष मार्च निकालने के बाद गुरु नानक पार्क में धरना देते समय संबोधित करते हुए किसान नेता सतबीर सिंह सुल्तानी ने कहा कि केंद्र सरकार देश विरोधी सरकार साबित हो रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को आर्थिक पक्ष से कमजोर कर रहे हैं। नागरिकता संशोधन बिल लागू करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में हिंसक घटनाओं को पैदा किया है।

देश में चल रही समस्याओं को दूर करने की बजाय प्रधानमंत्री मोदी देश की जनता को मुश्किलों के घेरे में धकेल रहे हैं। केंद्र की भाजपा सरकार आए दिन गलत फैसले लेकर देश को तबाह करने की फिराक में है। इसी तरह पंजाब सरकार भी गलत फैसले लेकर लोगों के संघर्ष को दबाने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि ना तो केंद्र और ना ही पंजाब सरकार उनके संघर्ष को दबा सकती है वह अपनी अधिकारिक मांगों को लेकर सड़कों पर उतरकर सरकार का विरोध करेंगे। उन्हें अपनी मांगों को मनवाने के लिए जो कोई भी हथकंडा अपनाना पड़ेगा वह अपनाएंगे। सरकार के किसी भी फैसले को वह अपने ऊपर लागू नहीं करेंगे। चाहे उनको जेलों में बंद कर दिया जाए वह अपने संघर्ष को दबने नहीं देंगे।

शहर में खुले रहे बाजार

जहां एक तरफ और अनेक संगठनों द्वारा देश बंद की काल दी गई। वही गुरदासपुर में बाजार बसों का आवागमन खुला रहा। गुरदासपुर में बंद को कोई खास समर्थन नहीं मिला। लेकिन संगठनों के नेताओं का सरकार के प्रति जो गुस्सा था उन्होंने शहर में रोष मार्च निकाल पूरे जोश के साथ निकाला।

धरना प्रदर्शन दौरान पुलिस रही तैनात
गुरदासपुर में प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए शहर में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया। इस दौरान कोई हिंसक घटना तो नहीं हुई मगर पुलिस द्वारा पूरे प्रबंध किए गए थे। प्रदर्शनकारियों ने बड़े शांत तरीके से अपना सरकार के प्रति गुस्सा व्यक्त किया। 


Print Friendly, PDF & Email
Thepunjabwire
  • 19
  • 70
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    89
    Shares
error: Content is protected !!