आरोपी की गिरफ्तारी व नौकरी से बर्खास्तगी की मांग को लेकर परिजनों ने डाकखाना चौक किया जाम

प्रदर्शनकारियों को एसपी (डी) ने दिया आश्वासन,आरोपी को नौकरी से कर दिया जाएगा बर्खास्त,दो दिन के अंदर कर ली जाएगी गिरफ्तारी

ढाई घंटे बाद उठाया धरना

गुरदासपुर, 19 जुलाई (मनन सैनी)। थाना तिब्बड़ के अंतर्गत आते गांव गोहत पोखर में गली में रखी गई बजरी को लेकर 30 जून को झगड़ा हो गया था। इसमें पंजाब पुलिस के एक सब-इंस्पेक्टर ने अपने परिवार के साथ मिलकर पड़ोस के एक व्यक्ति की हत्या कर दी थी। मामले में मुख्य आरोपी सब इंस्पेक्टर लखविंदर सिंह की गिरफ्तारी व नौकरी से बर्खास्त करने की मांग को लेकर परिजनों ने ढाई घंटे डाकखाना चौक जाम कर धरना दिया। परिजनों का आरोप है कि पुलिस आरोपी लखविंदर सिंह को बचाने का प्रयास कर रही है। यही कारण है कि लगभग बीस दिन बीत जाने के बाद आरोपित की गिरफ्तारी नहीं की गई। परिजनों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की।

उधर धरना स्थल पर पहुंचे एसपी (डी) हरविंदर सिंह संधू ने पीडि़त परिवार को आश्वासन दिया कि वह पुलिस विभाग की तरफ से आरोपित सब इंस्पेक्टर लखविंदर सिंह को नौकरी से बर्खास्त करने का लेटर जारी करवा देंगे और दो दिन के अंदर आरोपी की गिरफ्तारी कर ली जाएगी। जिसके बाद परिजनों ने धरना समाप्त कर दिया। गौर रहे कि हलका विधायक बरिंदरमीत सिंह पाहड़ा के पिता व लेबर सेल पंजाब के चेयरमैन गुरमीत सिंह पाहड़ा ने धरना स्थल पर पहुंच कर पीडि़त परिवार को इंसाफ दिलाने का आश्वासन दिया। 

गौरतलब है कि 30 जून को मामूली विवाद के बाद पुलिस में सब इंस्पेक्टर लखविंदर सिंह ने पड़ोस में रहने वाले मस्तान सिंह की तेजधार हथियारों से हमलाकर हत्या कर दी थी। मामले में पहले आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज न होने के विरोध में एक जुलाई को मृतक के स्वजनों ने थाना तिब्बड़ के समक्ष धरना दिया था। इसके बाद पुलिस ने आरोपित लखविंदर सिंह के खिलाफ भले ही हत्या का मामला दर्ज कर लिया था। लेकिन अभी तक उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई। वहीं परिजनों ने पुलिस को समक्ष अब यह भी मांग रख दी है कि आरोपित को नौकरी से बर्खास्त किया जाए। जिसके चलते सोमवार को सुबह 11 बजे से लेकर 1.30 बजे तक धरना दिया गया।

मृतक मस्तान सिंह के भाई शमशेर सिंह व पत्नी अकविदर कौर ने बताया कि उनके घर की मरम्मत का काम चल रहा था। इस कारण उनकी कुछ बजरी गली में बिखरी हुई थी। तीस जून को शाम के समय पड़ोस में रहते सब-इंस्पेक्टर लखविदर सिंह व उसके परिवार ने बजरी को लेकर उनके साथ झगड़ा करना शुरू कर दिया। लखविदर सिंह और उसके पारिवारिक सदस्यों ने मस्तान सिंह पर तेजधार हथियारों से हमला कर उनकी हत्या कर दी। उन्होंने इंसाफ दिलाया जाए। आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए और सब इंस्पेक्टर को नौकरी से बर्खास्त किया जाए। इस मौके पर गांव के सरपंच हरजिदर सिंह, सतवंत सिंह, परमजीत कौर, निर्मल कौर, शमशेर सिंह, गुरदीप सिंह, भगवंत सिंह, सरताज सिंह, हरभजन सिंह, भूपिदर सिंह, बख्शीश सिंह, महिदर सिंह, केवल सिंह, परमजीत सिंह, महिदर कौर, शिदर कौर,  आदि उपस्थित थे। 

एसपी के आश्वासन के बाद धरना खत्म-

धरना स्थल पर करीब 1.15 बजे एसपी (डी) हरविंदर सिंह संधू पहुंचे। उन्होंने पीडि़त परिवार के साथ बातचीत की और कहा कि आरोपित सब इंस्पेक्टर को नौकरी से बर्खास्त करवा दिया जाएगा। वह बर्खास्तगी का लेटर निकलवा देते हैं। वहीं आरोपित की दो दिन के अंदर गिरफ्तारी कर ली जाएगी। परिवार को इंसाफ दिलाया जाएगा। जिसके बाद प्रदर्शनकारियों ने धरना समाप्त कर लिया।

Print Friendly, PDF & Email
Thepunjabwire
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
error: Content is protected !!