बिमारी तथा कर्जे से परेशान युवक ने लगाया मौत को गले, फंदा लगा कर दी जान

ढाबे पर काम करता था युवक, शूगर की बिमारी से पीड़ित था मृतक 

गुरदासपुर, 19 नवंबर (मनन सैनी)। बिमारी तथा कर्जे  से परेशान युवक ने ढाबे पर लगे पंखे से फंदा लगा कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। युवक स्थानीय सीता राम पैट्रोल पंप के सामने स्थित ढाबा टेस्ट आफ अमृतसरी पर काम करता था। मृतक की पहचान इंद्र पुत्र सतपाल निवासी अमृतसर के रुप में हुई है। 

इस संबंधी दुकान के मालिक अखिल महाजन ने बताया कि मृतक इंद्र तथा एक अन्य कारिगर अमृतसर में रहते है तथा करीब दो माह से उसकी दुकान पर काम करते है। गत दिनों दिवाली तथा भैया दूज का त्योहार लगा कर सोमवार को दोनो वापिस घर पर परिवार से मिलने के लिए गए। जबकि दत दिवस बुधवार को ही दोनो वापिस लौटे थे। मालिक ने बताया कि इंद्र कई बार बात करता था कि वह कर्जे के बोझ तले दबा हुआ है तथा कईयों के पैसे देने है। परन्तु गुरुवार सुबह उसे कारिगर का फोन आया तथा जिसने उन्हे सूचित किया।  

थाना प्रभारी जबरजीत सिंह ने कि इंद्र की उम्र करीब 28 साल के करीब है। सूचना मिलने पर वह तुंरत उक्त ढ़ाबे पर पहुंचे जहां इंद्र ने दूसरी मंजिल पर लगे पंंखे से फंदा लगा कर अपनी जान दे दी। पुलिस की मौजूदगी में शव को उतारा गया तथा कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिवल अस्पताल भेज दिया गया है। उन्होने बताया मृतक के परिजन भूपिंदर  सिंह पुत्र कुलदीप सिंह के अनुसार इंद्र शूगर की बिमारी से पीड़ित था तथा कर्ज के चलते भी वह काफी परेशान रहता था। प्रभारी ने बताया कि इस संबंधी आईपीसी धारा 174 के तहत कारवाई कर शव वारिसों को सौंप दिया जाएगा।  

Print Friendly, PDF & Email
Thepunjabwire
  • 8
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    8
    Shares
error: Content is protected !!