कृषि कानून को रद्द न किए जाने पर किसान संगठनों ने जहाज चौंक में फूंका मोदी सरकार का पुतला

गुरदासपुर, 17 अक्तूबर (मनन सैनी)। तीन कृषि कानूनो को रद्द न किए जाने के रोष स्वरुप शनिवार को किसान संगठनों ने जहाज चौंक में मोदी सरकार का पुतला जलाकर जोरदार नारेबाजी की। जिसका नेतृत्व जसबीर सिंह, सुखदेव सिंह, तरलोक सिंह,मक्खन सिंह, गुरदीप सिंह, डा. अशोक भारती, सुखदेव सिंह, अजीत सिंह, करैल सिंह, सलविंदर सिंह, हरजीत सिंह काहलो, बलबीर सिंह ने संयुक्त तौर पर किया।

इस दौरान संबोधित करते हुए किसान संगठन के नेताओं ने कहा कि किसान संगठनों की ओर से लगातार अपनी मांगों को लेकर संघर्ष किया जा रहा है। लेकिन केंद्र सरकार के सिर पर जूं तक नहीं सरक रही है। उन्होंने कहा कि सरकार उनकी मांगों को अनदेखा कर किसानों का आक्रोश और बढ़ा रही है। यदि सरकार ने अपना फैसला वापिस न लिया तो आने वाले समय में संघर्ष को और भी तेज किया जाएगा और यह संघर्ष तब तक चलेगा, जब सरकार उनकी मांगों को स्वीकार कर नहीं लेती है। इस दौरान किसान संगठनों ने फैसला किया कि दीवापली वाले दिन जगह जगह पर रावन रुपी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पुतले जलाएं जाएंगे।

उन्होंने मांग की कि काले कानून को रद्द किया जाए और किसानों की बात को सुना जाए। इस मौके पर हरजीत सिंह काहलों, गुलजार सिंह, रघबीर सिंह, सतबीर सिंह, जगतार सिंह, गुरमीत सिंह, बलविंदर ंिसह, राजू औलख, सुभाष कैरे, आलमजीत, अमरक्रांति, संदीप सिंह, रमनीक सिंह, गुरपाल सिंह आदि उपस्थित थे।

error: Content is protected !!