पंजाब में कृषि विधेयक पर बवाल बढ़ा, पूर्व मुख्यमंत्री बादल के घर के बाहर किसान ने खाया जहर

कृषि बिल के खिलाफ पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल निवास के समक्ष संघर्ष कर रहे एक किसान ने सल्फास निगल ली, जिससे उसकी हालत गंभीर हो गई। उसे बठिंडा के सिविल अस्पताल में दाखिल कराया गया है। मिली जानकारी के अनुसार, पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल निवास के समक्ष पिछले तीन दिन से किसान जत्थेबंदियां पक्का धरना लगाकर मोर्चा डाले हुए हैँ।

शुक्रवार की सुबह करीब साढ़े छह बजे मानसा जिले के गांव अक्कांवाली के 55 वर्षीय प्रीतम सिंह पुत्र बचन सिंह ने अचानक सल्फास की गोलियां निगल ली। उसकी हालत खराब होने लगी और वो बेसुध होकर जमीन पर गिर गया। किसान मोर्चे पर उसके साथ बैठे साथियों ने उसे तुरंत सिविल अस्पताल बादल दाखिल करवाया।

जहां डॉक्टरों ने उसका प्राथमिक इलाज शुरु करते हुए उसे उल्टियां करवाईं ताकि जहर निकल सके। मगर हालत में सुधार न होने पर तथा गंभीर देखते हुए डॉक्टरों ने उसे बठिंडा के लिए रेफर कर दिया। प्रीतम सिंह के साथी किसानों ने कहा कि वे बीती रात भी कुछ चिंतित लग रहा था और बिल्कुल सोया नहीं था। सुबह पता ही नहीं लगा कब व कैसे उसने इस घटना को अंजाम दे दिया।

गौरतलब है कि पिछले तीन दिन से प्रदेश के करीब छह जिलों से बड़ी गिनती में किसान कृषि बिल के खिलाफ बादल निवास के आगे पक्का मोर्चा लगाए बैठे हैं। कृषि बिल के खिलाफ किसानों का रोष बढ़ता ही जा रही है। बताया जाता है कि प्रीतम सिंह के दो और भाई हैं तथा ये सभी मिल-जुलकर छह एकड़ जमीन पर अपने परिवार का गुजारा चला रहे हैं।

Thepunjabwire
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
error: Content is protected !!