विवाद- गुरदासपुर में दुकानदारों ने सैंपल देने से किया मना, खाली हाथ लौटी स्वस्थ्य विभाग की टीम

गुरुवार को दोबारा पूरी तैयारी के साथ जाएगीं टीमें, लिए जाएगें टैस्ट, कपड़ा व्यापारी के टैस्ट नैगेटिव संबंधी मैसेज फेक-एसडीएम बल  

कुछ दुकानदारों का कहना दुकानदारी होगी खराब, भीड़ भाड़ वाली दुकानों का लिया जाए पहले टैस्ट, कुछ ने भरी हामी

मनन सैनी
गुरदासपुर। शहर के बाजारों में स्थित दुकानदारों ने रैंडम सैंपलिंग करने आई स्वस्थ्य विभाग की टीम को सैंपल देने से मना कर दिया। जिसके चलते स्वस्थ्य​​ विभाग की टीम को खाली हाथ वापिस लौटना पड़ा। कुछ दुकानदारों की ओर से सैंपल नही देने का कारण कोरोना वायरस निकलने का भावी डर बताया गया और दुकानों पर सैंपल लेने से दुकानदारों खराब होने की बात कही गयी। वहीं प्रशासन का कहना था कि सभी दुकानदारों को चाहिए कि वह प्रशासन का सहयोग करें। प्रशासन की ओर से गुरुवार को दोबारा टीमें जाएगी और टैस्ट किए जाएगें।  वहीं बुधवार को स्वस्थ्य विभाग की ओर से सब्जी मंडी में सुबह जाकर मंडी में विक्रेता तथा सब्जी खरीदने आए कुल 21 लोगो के सैंपल लिए।

गौर रहे कि डिप्टी कमिशनर गुरदासपुर मोहम्मद इश्फाक की ओर से जारी निर्देशों के चलते स्वस्थ्य विभाग द्वारा टीम का गठन कर सब्जी मंडी तथा बाजारों में विभिन्न दुकानों पर काम करने वाले वर्कर, दुकानदारों के रैंडम सैंपल करने संबंधी करने की योजना बनाई गई थी। जिससे पता चल सके कि गुरदासपुर में कोरोना वायरस का प्रभाव कितना फैला है और उस पर अंकुश लगाया जा सके। परन्तु दुकानदारों ने टीम को बेरंग ही वापिस भेज दिया। दुकानदारों के भी दो गुट सामने आए दिखे। वहीं कुछ लोगो की ओर से गत दिवस पॉजिटिव पाए गए कपड़ा व्यापारी का टैस्ट नैगेटिव आने संबंधी  ग्रुपों में फेक मैसेज भी फैलाया गया।  

स्वर्णकार एवं सरार्फा एसोसिएशन के प्रधान अजय सूरी ने कहा कि स्वस्थ्य विभाग की ओर से यह बताया गया कि कपड़ा व्यापारी के संपर्क में आने वालों के टैस्ट लिए जाएगें परन्तु कपड़ा व्यापारियों के आज दुकाने बंद थी। स्वस्थ्य विभाग की ओर से उन दुकानदारों के टैस्ट लिए जाने चाहिए जिनकी दुकानों पर ज्यादा ग्राहक होते है। उन्होने कहा कि विभाग की ओर से दुकानदारों के टैस्ट दुकान पर ही लिए जाने की बात कही गई जिससे उनकी दुकानदारी खराब होने का खतरा है। उन्होने कहा कि कई दुकानों पर 45 सेलमैन काम करते है, कई दुकानों पर 35 , कई दुकानों पर गांव से ग्राहक आते है। जबकि प्रशासन को चाहिए कि वह बिना पक्षपात टैस्ट फार्म भर कर दुकानदारों को सूचित करें और वह गुप्त तरीके से अपने टैस्ट करवाए।  

वहीं चैंबर आफ कॉमरस गुरदासपुर के जनरल सचिव संदीप अबरोल (लक्की) ने कहा कि लोगो को प्रशासन का साथ देकर टैस्ट करवाने चाहिए। उन्होने कहा कि देखने में आया है कि इस आपदा में भी राजनिति हो रही है और फेक मैसेज डाल कर लोगो को गुमराह किया जा रहा है जो गलत है। दुकानदारों को चाहिए कि वह प्रशासन का साथ देकर इस बिमारी को रोकने में अपना योगदान दें। उन्होने कहा कि प्रशासन को चाहिए कि बाजारों में सभी की टैस्टिंग की जानी चाहिए। 

​इस संबंधी गुरदासपुर के एसडीएम सकत्तर सिंह बल का कहना था कि सैंपल देने से मना करना प्रशासन को अपना काम करने से रोकना है। कपड़ा व्यापारी के फस्ट संपर्क में आने वाले लोगो के सैंपल लिए गए है। जबकि सैंकेडरी के भी सैंपल लिए जाएगें। उन्होने कहा कि गुरुवार को प्रशासन की ओर से पुलिस टीमों के साथ जाकर सैंकेडरी संपंर्क में आने वाले लोगो के सैंपल लिए जाएगे। उन्होने बताया कि उक्त व्यापारी के एक अस्पताल में जाने की भी जांच करवाई जा रही है। रिकार्ड पाए जाने पर अस्पताल के लोगो के भी सैंपल लिए जाएगें और आईसोलेट किया जाएगा।  

वहीं  संबंधी सिवल सर्जन डॉ किशन चंद ने कहा कि लोगो को चाहिए वह स्वस्थ्य ​कर्मचारियों के साथ सहयोग करें। सैंपल से ही पता चल पाएगा कि किसे कोरोना वायरस का प्रभाव कितना फैला है, तभी उसके प्रभाव को रोका जा सकता है। उन्होने बताया कि प्रशासन की ओर से सब्जी मंडी गुरदासपुर में 21 सैंपल लिए गए है। जिनकी रिपोर्ट कल आएगी।

Coronavirus Update (Live)

Coronavirus Update

error: Content is protected !!