मांगों को लेकर पंजाब स्टूडेट्स यूनियन का शिष्टमंड़ल डीसी गुरदासपुर को मिला,सौंपा ज्ञापन

गुरदासपुर। विद्यार्थियों की मांगों को लेकर पंजाब स्टूडेंट्स यूनियन का एक शिष्टमंडल डीसी गुरदासपुर को मिला और मुख्यमंत्री पंजाब के नाम पर मांग पत्र सौंपा।

इस दौरान यूनियन के नेता मनी भट्टी ने कहा कि पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला और गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी अमृतसर द्वारा एक जुलाई से विद्यार्थियों की परीक्षा लेने की तैयारी कर रही है। जबकि विद्यार्थियों को परीक्षाओं की तैयारी के लिए कम से कम एक महीने का समय कक्षाएं लगाने के लिए दिया जाए। उसके बाद ही परीक्षा ली जाए। उन्होंने कहा कि परीक्षा लेने से पहले मौजूदा सिलेबस का हिस्सा छोटा किया जाना चाहिए। प्राइवेट कालेज विद्यार्थियों से पूरे साल की फीसें पहले ही ले चुके है। इस करके विद्यार्थियों से ली फीसें अगले समेस्टर में एडजस्ट की जाए। ईटीटी कर रहे विद्यार्थियों को शिक्षा विभाग द्वारा लिखित आदेश भेजा गया कि स्कूलों में पांच विद्यार्थियों के दाखिला करवाएं नहीं तो उनके असेस्टमेंट नंबर काटे जाएंगे। इस फैसले को वापिस लिया जाए। सरकार द्वारा कोई भी फैसला लेने से पहले विद्यार्थी प्रतिनिधियों को जरुरी भरोसे में ले लिया जाए। 

इस दौरान अमर क्रांति ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा लाकडाऊन के बहाने आरएसएस के एजेंडे को लागू किया जा रहा है। जिसकी सबसे बड़ी उद्दाहरण जामिया यूनिवर्सिटी के विद्यार्थी नेताओं की गिरफ्तारी है। जिसकी निंदा की जाती है। उन्होने कहा कि पंजाब सरकार ने सिर्फ टयूशन फीस लेने की बात कही थी मगर अब हाईकोर्ट के आदेशों के चलते प्राइवेट स्कूल वाले विद्यार्थियों के अभिभावकों की पूरी लूट करेंगे। उन्होंने मांग की कि प्राइवेट स्कूलों द्वारा मांगी जा रही पूरी फीस की अदायगी पंजाब सरकार अपने सरकारी खजाने में से करें। यदि मांगों को जल्द स्वीकार न किया गया तो यूनियन इसके खिलाफ संघर्ष को लामबंद करेगी। इस मौके पर विकास कुमार, सुनील कुमार, रवि सिद्धू आदि उपस्थित थे।

error: Content is protected !!