बलिदानों से भरा है देशभक्त क्षत्रिय कौम का गौरवशाली इतिहास:ठाकुर तंवर

कहा…आरक्षण जातिगत नहीं बल्कि आर्थिक आधार पर होना चाहिए

राजपूत कल्याण बोर्ड पंजाब के नवनियुक्त चेयरमैन ठाकुर दविन्द्र दर्शी का राज्य स्तरीय ताजपोशी समारोह आयोजित
पठानकोट, 28 फरवरी ( मनन सैनी)। राजपूत कल्याण बोर्ड पंजाब के नवनियुक्त चेयरमैन ठाकुर दविन्द्र सिंह दर्शी का राज्य स्तरीय ताजपोशी सम्मान समारोह अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा की पंजाब ईकाई के अध्यक्ष राणा हरिन्द्र सिंह व शहीद सैनिक परिवार सुरक्षा परिषद के महासचिव कुंवर रविन्द्र सिंह विक्की की संयुक्त अध्यक्षता में मनवाल स्थित पैलेस में आयोजित किया गया। जिसमें अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के कार्यकारी अध्यक्ष ठाकुर महिन्द्र सिंह तंवर बतौर मुख्य मेहमान शामिल हुए।

इनके अलावा विधायक ठाकुर दिनेश सिंह बब्बू, कल्याण बोर्ड के सीनियर वाइस चेयरमैन बलवीर सिंह चौहान, चौधरी राजवीर सिंह, महाराणा प्रताप राजपूत सभा लुधियाना के चेयरमैन डिम्पल राणा, अध्यक्ष राकेश मन्हास, परिषद के अध्यक्ष कर्नल सागर सिंह सलारिया, प्रैस सचिव बिट्टा काटल, राजपूत महासभा लोकसभा हलका गुरदासपुर के अध्यक्ष कंवर संतोख सिंह, राजपूत मुलाजिम कल्याण सभा शाहपुरकंडी के चेयरमैन ठाकुर दलीप सिंह, राजपूत सभा नंगल के अध्यक्ष दविन्द्र राणा, मुम्बई के प्रसिद्घ उद्योगपति सुभाष सलारिया, राजपूत सभा नूरपुर के चेयरमैन मनोज पठानिया, चौधरी राजेश्वर सिंह, चौधरी सज्जन सिंह, पूर्व पी.पी.सी.सी सचिव साहिब सिंह साबा, राजीव पठानिया, ठाकुर भूपिन्द्र सिंह, सुधीर कटोच, कृषि बैंक के चेयरमैन अवतार कलेर, इन्फोटैक के डायरैक्टर रोहित कोहली, ब्लाक समिति सुजानपुर के चेयरमैन अलविन्द्र सिंह लाडी, कुंवर शमशेर बिट्टू, राजपूत युवा सभा पठानकोट के चेयरमैन अर्जुन ठाकुर व अध्यक्ष भानू ठाकुर, ठाकुर बलकार सिंह, ठाकुर पूर्ण पठानिया, राजपूत सभा मुकेरिया के अध्यक्ष प्रदीप कटोच, कुंवर संग्राम सिंह, राजपूत महासभा जिला गुरदासपुर अध्यक्ष ठाकुर राम सिंह, सचिव ठाकुर विजय सिंह, महाराणा प्रताप यूथ क्लब सम्मूचक्क के अध्यक्ष ठाकुर बाऊ राम आदि ने विशेष मेहमान के तौर पर शिरकत की। सर्वप्रथम मुख्यातिथि व अन्य मेहमानों ने शूरवीर महाराणा प्रताप के चित्र समक्ष ज्योति प्रज्वलित कर व पुष्पांजलि अर्पित करके कार्यक्रम का आगाज किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यातिथि अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के कार्यकारी अध्यक्ष ठाकुर महिन्द्र सिंह तंवर ने कहा कि देश भक्त क्षत्रिय कौम का गौरवशाली इतिहास बलिदानों से भरा पड़ा है। जब भी देश की सुरक्षा को खतरा पैदा हुआ, इस कौम ने अपना बलिदान देकर राष्ट्र की एकता व अखंडता को बरकरार रखा है। उन्होंने कहा कि अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा का 125 वर्ष पुराना गौरवशाली इतिहास रहा है और उसी इतिहास को कायम रखते हुए क्षत्रिय सभा राष्ट्र के निर्माण में आज भी सराहनीय भूमिका निभा रही हंै। उन्होंने कहा कि उनकी महासभा आरक्षण के खिलाफ पूरे भारत वर्ष में कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक 70 हजार किलोमीटर रथयात्रा कर देश को यह संदेश दे चुकी हैं कि जातिगत आरक्षण देश के लिए घातक है, इसलिए इसका स्वरूप आर्थिक आधार पर होना चाहिए। गरीब चाहे किसी भी जाति का है, उसे आरक्षण का लाभ मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि उनकी क्षत्रिय महासभा का ढांचा गैर राजनीतिक है,मगर जो भी पार्टी बहुसंख्यक राजपूत बिरादरी को प्रतिनिधित्व देगी महासभा उस पार्टी को स्पोर्ट करेगी। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने ठाकुर दविन्द्र सिंह दर्शी को राजपूत कल्याण बोर्ड का चेयरमैन बनाकर उनका जो मान रखा है,उसके लिए वह विधानसभा स्पीकर राणा के.पी.सिंह का दिल से आभार व्यक्त करते है तथा उन्हें उम्मीद है कि ठाकुर दर्शी अपनी इस जिम्मेदारी को तनदेही से निभाते हुए क्षत्रिय कौम का नाम रोशन करेंगे।


संगठित कौमें ही राष्ट्र निर्माण में निभाती है निर्णायक भूमिका:विधायक बब्बू
विधायक ठाकुर दिनेश सिंह बब्बू ने कहा कि इतिहास इस बात का साक्षी है कि संगठित कौमें ही राष्ट्र निर्माण में निर्णायक भूमिका निभाती है। उन्होंने कहा कि उनके तीन बार विधायक बनने में समाज के अन्य वर्गो के साथ-साथ राजपूत बिरादरी की एक अहम भूमिका रही हैं, इसके लिए अपनी बिरादरी का हमेशा ऋणी रहेंगे। उन्होंने कहा कि आज समय की पुकार है कि हम सब महाराणा प्रताप के आदर्शों पर चलते हुए सारे समाज में देश भक्ति की अलख जगाकर यह संदेश दें कि क्षत्रिय नेतृत्व में देश सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि बेशक हम पंजाब में बहुसंख्यक है, लेकिन दुख का विषय है कि विधानसभा में उनके अलावा स्पीकर राणा के.पी.सिंह मात्र दो ही विधायक राजपूत बिरादरी का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं तथा इसके बारे में बिरादरी को मंथन करना होगा कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में संगठित होकर लोकतंत्र में अपना विशेष मुकाम बनाए।

क्षत्रिय महासभा द्वारा भेंट की पगड़ी की लाज रखेंगे बरकरार: ठाकुर दर्शी
राजपूत कल्याण बोर्ड पंजाब के नवनियुक्त चेयरमैन ठाकुर दविन्द्र सिंह दर्शी ने कहा कि अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ने उनके सिर पर पगड़ी बांध जो उनका मान बढ़ाया है, वह इस पगड़ी की हमेशा लाज रखेंगे तथा क्षत्रिय समाज के साथ-साथ समाज के अन्य वर्गों को भी साथ लेकर काम करते हुए सबको यह संदेश देंगे कि राजपूत जब भी सत्ता में आया है, सारे देश में ठंडी हवाओं के झोंके चले हैं तथा चेयरमैन के तौर पर उन्हें यह गरिमा पूर्ण पद सौंप कर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह, विधानसभा स्पीकर राणा के.पी.सिंह, पंजाब कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने उन पर जो विश्वास प्रकट किया है, उसे लेकर वह भरोसा दिलाते है कि वह इस पद की गरिमा को कभी आंच नहीं आने देंगे। इस मौके पर अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के पदाधिकारियों ने ठाकुर दविन्द्र सिंह दर्शी को सिर पर पगड़ी पहनाकर एवं तलवार भेंट कर उनकी ताजपोशी की रस्म को निभाया।

नवनिर्वाचित हुए राजपूत बिरादरी के कार्पोरेटरों का भी हुआ सम्मान
इस अवसर पर अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा द्वारा गत दिनों संपन्न हुए निकाय चुनावो में विभिन्न वार्डों से विजयी रही राजपूत बिरादरी से संबंधित कार्पोरेटरों ठाकुर विक्रम सिंह विक्कू, ठाकुर चरणजीत सिंह हैप्पी, रजनी मन्हास, सुनीता रानी, ठाकुर स्वर्ण सिंह व सुजानपुर से निर्वाचित पार्षद सुरिन्द्र मन्हास को भी फूलमालाएं पहना व स्मृति चिन्ह भेंट करके क्षत्रिय सभा के अध्यक्ष ठाकुर महिन्द्र सिंह तंवर व चेयरमैन ठाकुर दविन्द्र सिंह दर्शी ने सम्मानित करते हुए कहा कि उन्हें उम्मीद है कि यह सारे लोग क्षत्रिय कुल की मर्यादा का पालन करते हुए निष्कॉम भाव से लोगों की सेवा करेंगे। इसके अलावा क्षत्रिय महासभा द्वारा समारोह में पहुंचे चार शहीद परिवारों को भी स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।

समाज के सभी धर्मों का सम्मान करना क्षत्रिय को मिला विरासत में:कुंवर विक्की/राणा हरिन्द्र
इस अवसर पर परिषद के महासचिव कुंवर रविन्द्र सिंह विक्की व अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा पंजाब इकाई के अध्यक्ष राणा हरिन्द्र सिंह ने कहा कि त्याग व बलिदान का दूसरा नाम है क्षत्रिय, जिन्होंने अपने बलिदान देकर इतिहास के सुनहरी पन्नों को सुरख करते हुए महाराणा प्रताप की नीतियों पर चलकर सारे देश को यह संदेश दिया है कि सभी धर्मों का सम्मान करना क्षत्रियों को विरासत में मिला हैं। उन्होंने कहा कि हमारे प्रभु राम ने मां छबरी के झूठे बेर खाकर एक संदेश दिया था कि उनके लिए सभी धर्म एक सम्मान हैं। आज भी एक राजपूत की रसोई तब तक पवित्र नहीं होती जब तक वह एक ब्राह्मण को भोजन करवाकर उनका सम्मान नहीं कर लेते। इसलिए सरकारों को भी सोचना चाहिए कि इस देशभक्त कौम को भी हर क्षेत्र में उचित प्रतिनिधित्व देना चाहिए। इस मौके पर राजपूत कल्याण बोर्ड पंजाब के चेयरमैन ठाकुर दविन्द्र सिंह दर्शी द्वारा क्षत्रिय महासभा के पदाधिकारियों व अन्य महानुभावों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।

ये रहे मौजूद:
इस मौके पर अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा हरियाणा के अध्यक्ष छगुन सिंह राठौड़, उपाध्यक्ष धर्म पाल नेगी, करनाल के प्रधान डॉ.यशपाल सिंह तंवर, चंडीगढ़ के अध्यक्ष राणा अरविन्द सिंह, रूपनगर के अध्यक्ष राणा दविन्द्र सिंह, नवांशहर के अध्यक्ष राणा नरदेव सिंह व यूथ विंग अध्यक्ष मोहित राणा, प्रिँसीपल बलवीर सलारिया, डॉ.एम.एल.अत्री, ठाकुर यशपाल सिंह अवांखा, अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के प्रदेश युवा अध्यक्ष वरिन्द्र मन्हास, प्रबोध काटल, इंस्पैक्टर कंवल सिंह, कमांडैंट सुशील सिंह, जगपाल सिंह बिट्टू, मदन सिंह रानीपुर, कुलविन्द्र सिंह बब्बू, जीवन सिंह चिब, कैप्टन रछपाल सिंह, हंसराज, एडवोकेट रछपाल सिंह, अवतार सिंह, मनजीत पठानिया, स्वीटी ठाकुर, मनु ठाकुर, सुरिन्द्र सिंह जसरोटिया, हरदीप सिंह जसरोटिया,रणजीत सिंह सलारिया, आदि उपस्थित थे।  

Print Friendly, PDF & Email
www.thepunjabwire.com
error: Content is protected !!