बहरामपुर-संदिग्ध हालातों में खेतों में लटकता मिला अमृतधारी किशोर का शव, जांच में जुटी पुलिस

परिवार का कहना किसी से कोई दुश्मनी नहीं और न ही किसी तरह से परेशान था किशोर

प्रकाश पर्व की तैयारियों में जुटा था किशोर, गुरु पर्व के मौके पर गतके के दिखाने थे जौहर

गुरदासपुर, 19 जनवरी (मनन सैनी)। थाना बहरामपुर के गांव जग्गूचक्व टांडा में संदिग्ध हालातों में एक 16 वर्षीय अमृतधारी किशोर का शव गांव के खेतों में वृक्ष से लटकता मिला। जिसे देख कर बड़ी संख्या में गांव के लोग इकट्ठे हो गए। घटना की सूचना मिलने के उपरांत मौके पर पहुंची थाना बहरामपुर की पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर सिविल अस्पताल से पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है। उधर मृतक का परिवार किशोर की अचानक मौत से बेहद हैरान है। उनका कहना है कि न तो किशोर की किसी से दुश्मनी थी और न ही वह किसी तरह से परेशान था। किशोर तो प्रकाश पर्व की तैयारियों में जुटा था तथा उसने गुरु पर्व के मौके पर गतके के जौहर दिखाने थे। जिसके लिए वह काफी मेहनत कर रहा था। पुलिस के अनुसार उन्हें न तो कोई सुसाईंड नोट बरामद हुआ है और न ही मौके पर किसी तरह की कोई ​हत्या के निशान। हालाकि इस संबंधी 174 के तहत मामला दर्ज कर पोस्टमार्टम करवा कर शव परिवार को सौंप दिया गया है जिसका दाह संस्कार हो गया है। मृतक की पहचान मनप्रीत सिंह (16) पुत्र सुखविंदर सिंह निवासी जग्गूचक्क टांडा के रुप में हुई है।

सिविल अस्पताल के शव गृह के बाहर जानकारी देते हुए मृतक के पिता सुखविंदर सिंह पुत्र मोहिंदर सिंह ने बताया कि उसका बेटा मनप्रीत सरकारी स्कूल दीनानागर में 12वीं कक्षा में पढ़ता था। उसने बचपन से ही अमृत बाणा पहन रखा है। गांव के गुरुद्वारा साहिब में सुबह शाम सेवा करने के लिए जाता था। बुधवार को दशम पातशाही श्री गुरु गोबिंद सिंह जी का प्रकाश पर्व गांव से सजाया जाना है, जिसकी तैयारियों में मनप्रीत जुटा हुआ था। मनप्रीत ने गुरु पर्व के मौके पर गतके में जौहर दिखाना था। इसलिए वह देर शाम तक गुरुद्वारा साहिब में प्रैक्टिस करता था।

गत सोमवार को भी वह शाम के समय गुरुद्वारा साहिब में सेवा करने के बाद गतका की प्रैक्टिस कर रहा था। अकसर वह शाम को छह सात बजे तक घर लौटता ,लेकिन सोमवार वह घर नहीं लौटा। जब उन्होने गुरुद्वारा साहिब में जाकर ग्रंथी से पूछा, तो उन्होंने बताया कि मनप्रीत रोज की तरह सात बजे के करीब यहां से चला गया है। इस उपरांत उन्होंने पूरे गांव में तलाश की, उसके दोस्तों से पूछा, परन्तु किसी को मनप्रीत के बारे में कुछ पता नहीं था।

वहीं मंगलवार सुबह आठ बजे के करीब गांव के एक व्यक्ति ने खेतों में एक वृक्ष के साथ मनप्रीत का शव लटकता देखा। जिन्होनें आकर उन्हे सूचित किया। गांव के लोगों की मदद से शव को वृक्ष से नीचे उतारा गया। सुखविंदर सिंह ने बताया कि उनकी और न ही उसके बेटे की किसी के साथ कोई रंजिश थी और न ही वह जीवन में तंग था। मगर उनके बेटे की अचानक ऐसे वृक्ष से लटकता शव मिलना उन्हें कुछ समझ नहीं आ रहा कि यह कदम उसने क्यों उठाया।

इस संबंधी डीएसपी महेश सैनी ने बताया कि परिवार की ओर से किसी भी प्रकार की कोई शंका नही जताई गई। ​परन्तु पुलिस सभी एंगल पर काम कर रही है। प्राथमिक जांच में यह आत्महत्या का ही केस सामने आया है परन्तु आत्महत्या के कारणों संबंधी भी जांच की जाएगी। पुलिस ने धारा 174 के तहत मामला दर्ज कर शव परिवार को सौंप दिया है तथा अंतिम संस्कार कर दिया गया है।

Thepunjabwire
  • 10
  • 59
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    69
    Shares
error: Content is protected !!