शाहरुख की फिल्म का डाॅयलाग सुना प्रिंसिपल सचिव ने बच्चों को मेहनत तथा लग्न से पढ़ने के लिए किया प्रेरित

कहा ​हमारे देश में अवसरों की कमी नही, बस कोई भी काम करने में शर्म नही करनी चाहिए गुरप्रीत तलवार

एचीवर्ज प्रोग्राम स्टोरीज ऑफ द चैंपियज ऑफ गुरदासपुर में 500 से ज्यादा लोगो ने लाईव दर्ज करवाई उपस्थिती  

गुरदासपुर , 22 नवंबर (मनन सैनी)  “किसी चीज को अगर शिद्दत से चाहो तो पूरी कायनात उसे मिलाने की कोशिश में लग जाती है” शाहरुख खान की फिल्म ओम शांति ओम का यह डॉयलाग  वाटर सप्लाई तथा सैनिटेशन विभाग पंजाब की प्रिंसिपल सचिव तथा महात्मा गांधी स्टेट इंस्टिच्यूट आफ पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन की डायरेक्टर श्रीमती जसप्रीत तलवार (आई ए एस) की ओर से बोल कर बच्चों को मेहनत तथा लग्न करने के लिए प्रेरित किया गया तथा अपने जीवन के अनुभव सांझे किए गए। श्रीमति तलवार एचीवर्ज प्रोग्राम स्टोरीज आफ दी चैपिंयनंज आफ गुरदासपुर के सतारवें एडिशन में बतौर मुख्य मेहमान शामिल हुई थी। जिसकी अध्यक्षता गुरदासपुर के डिप्टी कमिशनर मोहम्मद इश्फाक की ओर से की गई। ​

17 वें प्रोग्राम में गुरदासपुर से संबंधित रुकमणी रियाड़ (आई ए एस) जोकि बूंदी जिले की कलेक्टर है , रवनीत कौर आईआईटी मंडी तथा 12 में 96.22 अंक प्राप्त करने वाली रविंदर कौर को एचिवर्ज के तौर पर चुना गया था। शनिवार को जूम मीटिंग के जरिए ​संपन्न हुए इस प्रोग्राम में 500 से ज्यादा लोग शामिल थे, जिसमें ज्यादातर विभिन्न स्कूलों के विद्यार्थी थें।

लाईव मीटिंग के दौरान सभी एचिवर्ज ने अपने अनुभव सांझा करते हुए कम नंबर लेकर भी मेहनत को अपना साथी बना कर बेहतर मुकाम हासिल करने के लिए प्रेरित किया। उन्होने बच्चों को इस आपातकाल को भी एक अवसर के रुप में देखने के लिए कहा तथा सोशल मीडिया प्लेटफार्म का सकरात्मक इस्तेमाल करते हुए नई सीख लेनी की प्रेरणा दी। इस मौके पर मुख्य मेहमान श्रीमति तलवार तथा आईएएस रुकमनी रियाड़ ने डीसी गुरदासपुर मोहम्मद इश्फाक के इस कदम की सराहना करते हुए अपने जीवन के अनुभव सांझा करते हुए बच्चों के सवालों के जवाब दिए । 

विदेशों में जाकर पढ़ने तथा विदेशों में बढ़ने संबंधी नौजवानों में बढ़ रहे रुझानों संबंधी पूछे गए सवाल में अपने विचार व्यक्त करते हुए श्रीमती जसप्रीत तलवार ने कहा हमारे देश में अवसरों की कमी नही है और न ही हमारी पढ़ाई का ​स्तर कम है। उन्होने नौजवानों को सलाह दी कि वह मेहनत करने में शर्म कदापि न करें तथा केवल और केवल सरकारी नौकरियों की ओर से ही मत देखें। उन्होने कहा कि नौजवानों में बेहद कौशल तथा श्रमता है तथा वह अपना खुद का व्यवसाय शुरु कर सकते है। उन्होने कहा कि आज मिसमैच हो रहा है कि हमारे पंजाब के लोग बाहर जा रहे है और बाहरी राज्यों के लोग काम के लिए पंजाब में आ रहे है। हमारे बच्चें हमारे पंजाब तथा देश के लिए ही बहुत काम कर सकते है। विदेश जाए परन्तु विदेशों में जाकर ज्ञान अर्जित कर देश की उन्नति के लिए काम करें। 

कादियां के गांव ढपई से आईएएस कर राजस्थान के बूंदी में बतौर कलैक्टर काम कर रही एचीवर रुकमणी रियाड़ ने नौजवान वर्ग को खेतीबाड़ी के साथ साथ सहायक धंधे अपनाने पर जोर दिया। लड़कियों को नौकरी के लिए बाहर जाने संबंधी प्रेरित करते हुए उन्हे अभिभावकों को सलाह दी कि वह उन्हे नौकरी की आज्ञा दे। वहीं अध्यापकों को भी बच्चों को पढ़ाने के लिए महज स्कूल लेवल तक नही बल्कि इंटरनैशनल लेवल की शिक्षा प्रदान करने की सलाह दी ताकि वह समाज में अच्छा मुकाम हासिल कर सकें। 

वहीं गांव भुल्लेचक्क की रवनीत कौर आईआईटी तथा गांव वाहला नजदीक बहरामपुर की निवासी रविंदर कौर ने भी अपने अनुभव सांझे किए। 
इस मौके पर डीसी मोहम्मद इश्फाक ने बताया कि गुरदासपुर में वाॅल ऑफ फेम बनाई गई है। वहीं अभी 26 जनवरी पर कॉफी टेबल बुकलैट भी जारी की जाएगी। 

वीडियों देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

https://www.facebook.com/730403107141928/videos/1114557568962258
error: Content is protected !!