शहीद जांबाज सैनिकों के नाम पर जलाएं दीवाली का पहला दीया : कुंवर विक्की

शहीद मनिन्दर के नाम पर बने स्कूल में यह दीवाली शहीदों के नाम कार्यक्रम आयोजित

दीनानगर (गुरदासपुर), 11 नवंबर। शहीद कांस्टेबल मनिन्दर सिंह सरकारी माडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल में प्रिंसीपल जसकरणजीत सिंह काहलों की अध्यक्षता में यह दीवाली शहीदों के नाम कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें शहीद सैनिक परिवार सुरक्षा परिषद के महासचिव कुंवर रविन्द्र सिंह विक्की बतौर मुख्य मेहमान शामिल हुए। जबकि पुलवामा हमले के शहीद कांस्टेबल मनिन्दर सिंह के पिता सतपाल अत्री, भाई लखवीश सिंह,सूबेदार मेजर शाम सिंह आदि ने विशेष मेहमान के तौर पर शिरकत की।

समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यातिथि कुंवर रविन्द्र विक्की ने कहा कि भारतीय संस्कृति में हर त्यौहार का अपना महत्व होता है। मगर दीवाली जिसे रौशनियों का त्यौहार कहा जाता है, इसे हर अमीर गरीब अपने तरीके से मनाता है। मगर रौशनियों की इस चकाचौंध में अकसर देशवासी भारत मां के उन वीर सपूतों को भुला देते हैं, जिन्होंने अपना बलिदान देकर उन्हें सुरक्षित दीवाली मनाने का अवसर प्रदान किया होता है। उन्होंने कहा कि उनकी परिषद हर वर्ष यह त्यौहार अपने शहीद सैनिकों को नमन करते हुए व सरहदों पर तैनात अपने जांबाज सैनिकों का मनोबल बढ़ाते हुए मनाती है, क्योंकि हमारे सीमा प्रहरी अपने परिवारों से दूर रह कर कठिन परिस्थितियों में अपनी डयूटी निभाते हैं तथा उनकी बदौलत ही देशवासी अपना हर त्यौहार हंसी खुशी व सुरक्षित रह कर मना पाते हैं।

उन्होंने समूह देशवासियों से आहवान करते हुए कहा कि दीवाली पर हर परिवार पहला दीया शहीदों के नाम का जलाएं। ताकि हमारे रणबांकुरों के बलिदानों की गरिमा बरकरार रहे तथा शहीद परिवारों को इस बात का अहसास हो कि उनके इस गम में समूचा राष्ट्र उनके साथ खड़ा है। क्योंकि हमारे सीमा प्रहरी वर्षों तक ऐसे त्यौहार अपने परिवार के साथ इस लिए नहीं मना पाते ताकि देश वासी अपने परिवार सहित खुशी से दीवाली मना सके। उन्होंने छात्रों से कहा कि दीवाली पर चीनी सामान का बहिष्कार करें, क्योंकि कुछ महीने पहले ही चीनी सैनिकों से लड़ते हुए हमारे 20 सैनिक शहीद हो गए थे। इस लिए चाईना निर्मित सामान का बहिष्कार ही हमारे शहीद जवानों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

प्रदूषण रहित व ग्रीन दीवाली मनाने का लें संकल्प

प्रिंसीपल जसकरणजीत सिंह काहलों ने कहा कि सभी छात्र प्रदूृषण रहित व ग्रीन दीवाली मनाने का संकल्प लें ताकि पर्यावरण साफ व शुद्ध रह सके तथा पटाखें बिल्कुल न चलाएं अगर हो सकेे तो इस दिन अपने घर में एक चन्दन का पौधा जरूर लगाएं, जिसकी खुशबू से आपका आंगन महक उठेगा। उन्होंने कहा कि इस स्कूल का नाम एक शहीद के नाम से होने से इसका रूतबा बहुत ऊंचा हो गया है। इस अवसर पर वाईस प्रिंसीपल कंवर अरूण सिंह ने आए हुए मेहमानों का धन्यवाद किया तथा मास्टर नेक चंद ने मंच संंंचालन का दायित्व बाखूबी निभाया। इस अवसर पर मास्टर विजय कुमार, तिलक राज, नवदीप सिंह, सतिन्द्रजीत सिंह, विजय इन्द्रपाल, अश्विनी कुमार, मैडम अनुपम शर्मा, मैडम चंदा आदि उपस्थित थे।

Manan Saini
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
error: Content is protected !!