31वें दिन भी जारी रहा किसानों का धरना, प्रदूषण के लिए कारखानों का धुआं अधिक जिम्मेदार

गुरदासपुर, 31 अगस्त । रेलवे स्टेशन पर किसान संगठनों का 31 वें दिन भी धरना जारी रहा। धरने का नेतृत्व कर रहे किसान नेता बख्शीश सिंह सुल्तानी ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा कृषि कानून लागू करके किसानों को दबाने का प्रयास किया गया है लेकिन केंद्र सरकार यह नहीं जानती कि किसान इतनी जल्दी डरने वालों में से नहीं है। किसान अपना हक लेकर ही दम लेंगे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की किसान विरोधी नीतियों से किसान घबराने वाले नहीं है। किसान केंद्र सरकार का डटकर विरोध करेंगे।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने प्रदूषण विरोधी कानून के नाम पर पराली जलाने वाले किसानों को 5 साल की कैद व एक करोड़ जुर्माना करने का काला प्रमाण जो जारी किया है उसका किसान संगठन डटकर विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि किसानों को पराली संभालने के लिए कोई मुआवजा नहीं दिया जा रहा है जबकि प्रदूषण का कारण कारखानों का धुआं अधिक जिम्मेदार है। केंद्र सरकार हर तरफ से किसानों पर ही धावा बोल रही है। देश का अन्नदाता किसान अपनी मांगों को लेकर पिछले 1 महीने से रेलवे स्टेशनों पर देर रात धरना दे रहा है। लेकिन केंद्र सरकार किसानों को संघर्ष को देखते हुए भी टस से मस नहीं हो रही। लेकिन किसान भी बहुत अडीयल है। वह अपना हक लेकर ही धरना उठाएंगे।

Thepunjabwire
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
error: Content is protected !!