दुशहरे वाले दिन गांव गांव जाकर प्रधानमंत्री मोदी के पुतले जलाएंगे किसान

पेंशनर्ज वेलफेयर एसोसिएशन के सेवा निवृत मुलाजिम किसानों के समर्थन में पहुंचा 

गुरदासपुर, 13 अक्तूबर (मनन सैनी) । दुशहरे वाले दिन गांव गांव जाकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला जलाएगें। यह कहना है पिछले कई दिनों से रेलवे स्टेशन गुरदासपुर में पिछले कई दिनों से डटे किसान संगठनों का । जो तीन कृषि कानून का संयुक्त रुप से विरोध कर रहे है। मंगलवार के धरने का नेतृत्व मंगत चंचल व सविंदर कलसी ने संयुक्त तौर पर किया। धरने में पेंशनर्ज वेलफेयर एसोसिएशन के सेवा निवृत्त मुलाजिमों का जत्था किसानों के समर्थन में पहुंचा।  

इस मौैके पर किसान नेताओं ने संबोधित करते हुए कहा कि 14 अक्तूबर को केंद्र सरकार ने बातचीत के लिए किसानों को बुलाया है। दूसरी तरफ सरकार काले कानूनों की प्रशंसा करते हुए पंफलेट बांट रही है। ऐसे लगता है कि मोदी सरकार की नीयत साफ नहीं है। यदि मोदी सरकार ने तीन काले कानून वापिस न लिए तो किसान इसका मुंह तोड़ जवाब देंगे। उन्होंने कहा कि किसान ने कड़ी मेहनत कर भारत के लोगों के लिए अन्न के भंडार भरे। लेकिन आज किसानों को मारने के लिए अंबानियों व अडानियों के हाथ काले कानून का हथियार पकड़ाया जा रहा है। नेताओं ने पंजाब सरकार को बिना देरी विधानसभा का विशेष अधिवेशन बुलाकर काले काूननों के विरुद्ध प्रस्ताव पास करना चाहिए।

error: Content is protected !!