घर-घर नौकरी देने की बजाए सरकारी नौकरियों को जड़ से खत्म करने में लगी पंजाब सरकार -भगवंत मान

‘आप’ ने जल स्रोत, कृषि विभागों के बाद अब पावरकॉम में 40 हजार से अधिक पद खत्म करने का किया विरोध

चंडीगड़, 13 अगस्त।आम आदमी पार्टी (आप) के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद भगवंत मान ने कहा कि घर-घर नौकरियां देने का वायदा करने वाली ‘राजा शाही’ कैप्टन सरकार अब सरकारी नौकरियों को जड़ से ही खत्म करने में लगी है और हर दिन किसी न किसी सरकारी विभाग की ओर से हजारों की संख्या में पदों को खत्म किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसी सरकार को सत्ता में रहने का कोई भी हक नहीं, जिस ने चुनावों से पहले बेरोजगार नौजवानों के साथ घर-घर सरकारी नौकरी पक्के तौर पर देने का वायदा किया और अब अपने वायदे को भूला कर सरकारी नौकरियों को भी जड़ से खत्म कर रही है।  

पार्टी हैडक्वाटर से जारी बयान में ‘आप’ के प्रदेश अध्यक्ष भगवंत मान ने कहा कि सरकार ने सत्ता में आने से पहले बेरोजगारों के साथ यह वायदा किया कि उनको नौकरी दी जाएगी, आज कांग्रेस सरकार घातक नीतियों के द्वारा सरकारी नौकरियों का स्थाई  तौर पर ही खत्म कर रही है। भगवंत मान ने कहा कि साल 2017 में अमरिन्दर सिंह ने न केवल चुनाव के दौरान बेरोजगारों से फार्म भरवा कर नौकरियां देने का वायदा किया था, परन्तु आज इस के उलट चल कर नौजवानों की उम्मीदों पर पानी फेर रही है, जिस कारण नौजवानों को अब अपना भविष्य धुंधला नजर आ रहा है। सांसद भगवंत मान ने कहा कि पंजाब सरकार ने अब पावरकॉम (बिजली) विभाग 40,483 प्रवानित पदों को खत्म करने का फैसला लिया है। 

मान ने कहा कि कोरोना महांमारी के दौरान ही पंजाब सरकार ने पावरकॉम के इन पदों समेत 50 हजार से अधिक सरकारी प्रवानित पदों को खत्म करने का फैसला ले लिया है। जिनमें 2200 से अधिक कृषि और 8000 से अधिक जल स्रोत विभाग की नौकरियां शामिल हैं। 

भगवंत मान ने कहा कि ऐसे लगता है जैसे सरकार की बुद्धि ही भ्रष्ट हो गई है। सरकार ने नौकरियों की छंटनी में पैस्को के अधीन सुरक्षा मुलाजिमों की ओर से नौकरी करते 1,284 मुलाजिमों की भी छुट्टी की जा रही है। यहां तक कि ठेका भर्ती के अधीन काम करते सैंकड़ों मुलाजिमों की भी नौकरी छीनी जा रही है।

उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार को बेरोजगार विरोधी अपना यह फैसला वापस लेने पर विचार करना चाहिए, नहीं तो इस को लेकर आम आदमी पार्टी कांग्रेस सरकार के इन फैसलों के खिलाफ आंदोलन शुरु करेगी। भगवंत मान ने दावा किया कि 2022 में पंजाब में ‘आप’ की सरकार बनने पर इन सभी फैसलों को शुरू से रद्द करके पंजाब को रोजगार प्रमुख और नौजवानों की उम्मीदों वाला प्रदेश बनाया जाएगा।  

Coronavirus Update (Live)

Coronavirus Update

error: Content is protected !!