शिरोमणी अकाली दल ने स्वास्थ्य कर्मचारियों को समय पर वेतन न देने पर कांग्रेस सरकार की निंदा की

मुख्यमंत्री से कहा कि वह डीए की बकाया राशि जारी करने के अलावा छठे पंजाब वेतन आयोग की रिपोर्ट जारी करें: डॉ. दलजीत सिंह चीमा

चंडीगढ़/01अगस्त: शिरोमणी अकाली दल ने आज कहा है कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस सरकार कोविड-19 महामारी के ड्यूटी में लगे हेल्य केयर कर्मचारियों को वेतन नही दे रही है जैसा की सुप्रीम कोर्ट से पता चला है और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से कहा कि वे प्रशासन को चुस्त दुरूस्त बनाएं ताकि अग्रिम पक्ंित के यौद्धाओं के साथ किसी भी तरह का भेदभाव न किया जा सके।

यहां एक प्रेस बयान जारी करते हुए डॉ. दलजीत सिंह चीमा ने कहा कि यह बेहद आश्चर्य की बात है कि स्वास्थ्य कर्मचारियों को समय पर वेतन का भुगतान सुनिश्चित करने के शीर्ष अदालत के स्पष्ट निर्देशों के बावजूद कांग्रेस सरकार इस मामले में कुछ नही किया। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री को समय पर वेतन देना सुनिश्चित करना चाहिए ताकि जानलेवा महामारी के खिलाफ लड़ाई में सामने आए स्वास्थ्य कर्मचारियों का मनोबल न गिरे। उन्होने कहा कि हमारे बहादुर यौद्धा कोविड-19 महामारी के सबसे ज्यादा जोखिम में है एक गंभीर महामारी के समय पर महीनों से लगातार काम कर रहे हैं ।

डॉ. दलजीत सिंह चीमा ने याद दिलाया कि सभी कर्मचारियों का वेतन समय पर जारी करने के लिए आवश्यक राजनीतिक इच्छाशक्ति का प्रयोग करना चाहिए। उन्होने कहा कि अगर सरकार के पास शराब ठेकेदारों पर फिजूलखर्ची के लिए 576 करोड़ रूपये थे और इस मामले की जांच का आदेश दिए बिना 5600 करोड़ रूपये के आबकारी राजस्व का नुकसान हो सकता था तो उसे सरकारी कर्मचारियों के प्रति अपनी जिम्मेदारी से नही भागना चाहिए।

अकाली नेता ने कहा कि सरकारी कर्मचारियों की सभी वास्तविक शिकायतों का भी तत्काल समाधान करना चाहिए। उन्होने कहा कि सरकार को पंजाब छठे वेतन आयोग की रिपोर्ट जारी करने के अलावा कर्मचारियों को 5000 करोड़ रूपये के मंहगाई भत्ते के बकाया को जारी करना चाहिए, जिसमें अत्यधिक देरी हुई थी। उन्होने कहा कि सरकार को केंद्रीय वेतन आयोग के अनुसार नई भर्तियां करने का निर्देश भी देना चाहिए।

Print Friendly, PDF & Email
Thepunjabwire
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
error: Content is protected !!