कृषि कानूनों पर पार्टी के अडियल रवईए से तंग भाजपा के दर्जन नेता अकाली दल में हुए शामिल, जिला प्रधान बब्बेहाली ने सिरोपा डाल किया स्वागत

गुरदासपुर, 29 अप्रैल (मनन सैनी)। भाजपा को विधानसभा हलका दीनानगर में उस समय बड़ा झटका लगा जब एक दर्जन के करीब भाजपा पदाधिकारियों ने पार्टी छोड़ अकाली दल में शामिल होने की घोषणा कर दी। उक्त लोगों को अकाली दल के जिला प्रधान गुरबचन सिंह बब्बेहाली द्वारा पार्टी में शामिल करवाते हुए सिरोपा भेंट कर सम्मानित किया गया।

गौरतलब है कि भाजपा पदाधिकारी लगातार पार्टी छोड़ अकाली दल में शामिल हो रहे है। एक दिन पहले ही दीनानगर हलके से संबंधित भाजपा के जिला महामंत्री कमलजीत चावला अपने साथियों सहित अकाली दल में शामिल हुए थे। जिसके बाद अब पूर्व मंडल प्रधान निशान सिंह, पूर्व सरपंच जसबीर सिंह, कार्यकारी सदस्य कुलदीप सिंह, पूर्व महासचिव हरप्रीत सोनू, पूर्व सरपंच हेमराज, पूर्व सरपंच तलवंडी पलविंदर सिंह, पूर्व सरपंच खुशीपुर बलबीर सिंह, पूर्व युवा मोर्चा प्रधान गुरप्रीत चौंतरा ने अपने साथियों सहित भाजपा को हमेशा के लिए छोड़ कर अकाली दल में शामिल होने की घोषणा कर दी।

उक्त नेताओं ने कहा कि वह पिछले कई दशकों से भाजपा के साथ जुड़े हुए है, लेकिन भाजपा द्वारा पारित किए गए कृषि कानूनों का भारी विरोध होने के बावजूद पार्टी का अपने फैसले पर अड़े रहने के चलते उन्होंने पार्टी को छोडऩे का फैसला किया है। उन्होने कहा कि जिस तनदेही से वह भाजपा में पार्टी के लिए काम करते थे, उससे भी अधिक दृढ़ता से अकाली दल के लिए काम करेंगे।

भाजपा नेताओं को अकाली में शामिल करवाते हुए बब्बेहाली ने कहा कि भाजपा की नीतियों से दुखी होकर लगातार भाजपा नेता अकाली दल में शामिल हो रहे है। हाल ही में कमलजीत चावला अपने दर्जनों के करीब साथियों सहित पार्टी में शामिल हुए थे, लेकिन कोरोना को देखते हुए सभी लोगों को नहीं बुलाया गया था। जिस पर भाजपा नेताओं का तर्क था कि केवल दस लोग ही पार्टी छोडक़र गए है। जबकि आज यहां दर्जन के करीब पदाधिकारी फिर से भाजपा छोड़ अकाली दल में शामिल हुए है, वहीं उनसे जुड़े सैकड़ो लोगों ने भी अकाली दल के समर्थन की घोषणा की है। उन्होने विश्वास दिलाया कि भाजपा को छोड़ अकाली दल में शामिल होने वाले हर नेता व वर्कर को पार्टी में पूरा मान सम्मान दिया जाएगा और अकाली दल की सरकार बनने पर सबके कार्य पहल के आधार पर किए जाएंगे।

Print Friendly, PDF & Email
Thepunjabwire
  • 7
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    7
    Shares
error: Content is protected !!