पंजाब में खेल के बुनियादी ढांचे को अपग्रेड करने के लिए राणा सोढी द्वारा लौफब्रोअ यूनिवर्सिटी का दौरा

खेल मंत्री के नेतृत्व अधीन तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने विश्व की सर्वोत्त्म खेल यूनिवर्सिटी के वी.सी. और एसोसिएट प्रो. -वी.सी. के साथ की मुलाकात

पंजाब खेलों के लिए आधुनिक सुविधाएं और तकनीकी मदद प्रदान करने के लिए जल्द ही लौफब्रोअ यूनिवर्सिटी के साथ करेगा समझौता

चंडीगढ़, 13 फरवरी: पंजाब में खेल के बुनियादी ढांचे को अपग्रेड करने और राज्य की खेल यूनिवर्सिटी को विश्व स्तरीय सुविधाएंं और खेल तकनीकों से लैस करने के उद्देश्य से पंजाब के खेल और युवा मामलों संबंधी मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी के नेतृत्व वाले प्रतिनिधिमंडन ने इंग्लैंड के लिसेस्टरशायर स्थित सर्वोत्त्म खेल शैक्षिक संस्था ‘लौफ़ब्रोअ यूनिवर्सिटी’ का दौरा किया।

प्रतिनिधिमंडल में खेल विभाग के प्रमुख सचिव श्री हुसन लाल और महाराजा भुपिन्दर सिंह खेल यूनिवर्सिटी पटियाला के वाइस चांसलर लैफ्टिनैंट जनरल (सेवामुक्त) जे.एस. चीमा भी मौजूद थे। इस दौरे के दौरान राणा सोढी ने यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रोफ़ैसर राबर्ट जे. एलिसन और एसोसिएट प्रो. वाइस चांसलर प्रोफ़ैसर एलिज़ाबैथ पील के साथ भी मुलाकात की और पंजाब में खेल को उत्साहित करने की संभावनाएं तलाशने के लिए खेल क्षेत्र के विभिन्न पहलूओं पर विचार-विमर्श किया।

मीटिंग के दौरान खेल मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार खेल के क्षेत्र में और ज्यादा मौके पैदा करने के लिए वचनबद्ध है। राणा सोढी ने कहा कि महाराजा भुपिन्दर सिंह खेल यूनिवर्सिटी मुख्यमंत्री का स्वपनमयी प्रोजैक्ट है और मुख्यमंत्री ने पंजाब को खेल क्षेत्र और खेल विज्ञान में पहले नंबर पर पहुँचाने का प्रण किया है। उन्होंने कहा कि अगर पंजाब खेल के क्षेत्र में नये क्षितिज स्थापित करना चाहता है तो हमें खेल विज्ञान, खेल प्रौद्यौगिकी और खेल मैडिसन के क्षेत्रों में बढ़-चढ़ कर काम करना होगा।

यूनिवर्सिटी अधिकारियों के साथ हुए विचार-विमर्श संबंधी बताते हुये राणा सोढी ने कहा कि पंजाब सरकार जल्द ही लौफ़ब्रोअ यूनिवर्सिटी के साथ खेल की नवीनतम सहूलतें और तकनीकों के अदान -प्रदान के लिए समझौता करेगी जिससे राज्य में विश्व स्तरीय खेल बुनियादी ढांचा तैयार किया जा सके। उन्होंने बताया कि वाइस चांसलर प्रो. रोबर्ट जे. एलिसन और एसोसिएट प्रो. -वाइस चांसलर प्रोफ़ैसर ऐलिज़ाबैथ पील ने महाराजा भुपिन्दर सिंह खेल यूनिवर्सिटी को तकनीकी सहायता प्रदान करने के लिए भी अपनी सहमति दी है। दोनों अधिकारियों ने यूनिवर्सिटी को प्रभावशाली ढंग से चलाने के लिए हर संभव सहयोग का भरोसा भी दिया है।

मंत्री ने कहा कि मीटिंग के दौरान कई मुद्दों पर विचार-विमर्श हुआ, जिनमें अहम खेल बुनियादी ढांचा और खेल विज्ञान, उन्नत खेल ढंग, खिलाडिय़ों का प्रशिक्षण, नवीनतम कोचिंग तकनीकों के द्वारा खिलाडिय़ों के तंदुरुस्ती के स्तर को बनाये रखना और प्रशिक्षक तैयार करना आदि शामिल हैं।

error: Content is protected !!